बाल दिवस स्पेशल-बॉलीवुड के इन गानों के बिना अधूरा है बाल दिवस सेलिब्रेशन

Samachar Jagat | Monday, 13 Nov 2017 05:21:01 PM
Children's Day special-Bollywood songs are incomplete without child day Celebration


एंटरटेनमेंट डेस्क। 14 नवंबर को मनाया जाने वाला बाल दिवस दुनियाभर में धूमधाम से मनाया जाता है। स्कूलों और संस्थाओं में इस अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। बच्चें इस दिन चाचा नेहरू की ड्रेस में सज-धजकर प्रोग्राम करेंगे तो कई स्टूडेंट्स उनके कार्यों को नाटक के जरिए दिखाएंगे। कुल मिलाकर बच्चों के फेवरिट चाचा नेहरू फिर से सभी के बीच नजर आएंगे।

बच्चों के मनोरंजन और नेहरू जी की याद में स्कूलों में बहुत दिनों पहले ही तैयारियां हो जाती है। इस दिन बच्चों का उत्साह देखते बनता है। अनाथालयों, मूक-बधिर संस्थाओं, समाजसेवी संगठनों की ओर से कई विशेष कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। कार्यक्रम में बच्चों के पसंदीदा गानों की धुन सुनाई देगी। बॉलीवुड फिल्मों में बच्चों पर कई गानें बनाए गए हैं जिन्हें सुनकर बच्चों के साथ बड़े भी झूम उठते हैं।

इन गानों की धुन सुनाई देगी

Children’s Day 2017: फिल्म इंडस्ट्री में बाल कलाकारों का जलवा भी कम नहीं

आओ बच्चों तुम्हें दिखाएं झांकी हिन्दुस्तान की

1954 में आई फिल्म जागृति का यह गीत आज भी बहुत लोकप्रिय है। यह एक देशभक्ति गीत है जिसे आज भी बहुत ही शिद्दत के साथ स्कूलों में बच्चों को सुनाया जाता है। इस पर बच्चे कई तरह की प्रस्तुतियां भी देते हैं।

नन्हा मुन्ना राही हूं, देश का सिपाही हूं

यह बच्चों का सबसे खास गाना है। बच्चे जब से बोलना शुरू करते हैं अधिकतर यही गाना गुनगुनाते नजर आते हैं। 1962 में आई फिल्म सन ऑफ इंडिया का यह गीत भी बहुत ही लोकप्रिय है। बात चाहे स्वतंत्रता दिवस की हो या फिर बाल दिवस की इस गीत को सभी जगह गुनगुनाया जाता है।

अमिताभ-काजोल के प्रशंसक हैं कमल हासन

हम को मन की शक्ति देना मन विजय करें

इस गानें को सुनने और गानें से मन को वास्तव में भी शांति मिलती है। 1971 में रिलीज हुई फिल्म गुड्डी का यह गीत भी बच्चों को बहुत पसंद आता है। इसे आध्यात्मिकता से भी जोड़ा जाता है लेकिन यह गीत बच्चों के बीच बहुत ही लोकप्रिय है। 

बच्चे मन के सच्चे सारे जग की आंख के तारे

जैसा कि गानें के बोल ही बता रहे है बच्चें मन के सच्चे होते हैं। उनकी आंखों में सपने तैरते हुए नजर आते हैं। एक ही सेकंड में हजारों सपने बुन लेते हैं। 1968 में आई फिल्म दो कलियां का यह गीत बच्चों की मासूमियत बताता है। नन्हे बच्चों पर आधारित यह गीत बताता है कि बच्चे पूरे जग को प्यारे हैं और इनसे ज्यादा पवित्र और निश्छल कोई और नहीं है।

अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी ने फिल्म इंडस्ट्री में पूरे किए 24 साल

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए

बच्चों को चाहे मनाने की बात हो या सुलाने की। यह गाना सदाबहार है। 1960 में आई मासूम का यह गाना बहुत ही लोकप्रिय हुआ था। अंताक्षरी में हिट यह गाना आज भी नाट्य प्रस्तुतियों के लिए बच्चों की पहली पसंद बना हुआ है। स्कूलों में बच्चे इस गाने पर मनमोहक नृत्य प्रस्तुत करते हैं।

वोडाफोन लाया है 38 रुपए का छोटा चैंपियन प्लान, कॉलिंग के साथ मिलेगा डाटा

भूलकर भी शिवलिंग पर नहीं चढ़ाए हल्दी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.