सिनेमा विभाजनकारी शक्तियों से लडऩे का एक साधन है : नंदिता दास

Samachar Jagat | Saturday, 08 Dec 2018 11:44:08 AM
Cinema is a means of fighting with divisive forces: Nandita Das

तिरुवंनतपुरम। मशहूर अभिनेत्री-निर्देशक नंदिता दास ने शुक्रवार को कहा कि सिनेमा विभाजनकारी शक्तियों से अहिंसक तरीके से लडऩे के सबसे मजबूत साधनों में से एक है। 23 वें अंतरराष्ट्रीय केरल फिल्मोत्सव के उद्घाटन के मौके पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर दास ने कहा कि यदि सिनेमा इतना शक्तिशाली नहीं होता तो कोई भी उसे चुप कराना नहीं चाहता।

उन्होंने कहा समय बहुत मुश्किल भरा है। आप सभी बाढ़ (की विभीषिका) से गुजरे हैं। हम सभी ने बहुत थोड़ा बहुत प्रयास किया।हम सभी एक साथ आए। उन्होंने कहा लेकिन दूसरा हमला विभाजनकारी शक्तियों का है जो धर्म, जाति, वर्ग, लिंग के नाम पर हमें बांट रही हैं। हमें बिना हिंसक हुए उनसे लडऩा है और मैं मानती हूं कि कला और सिनेमा सबसे शक्तिशाली साधनों में एक बना हुआ है। एजेंसी
 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.