आजीवन कारावास के खिलाफ उच्च न्यायालय पहुंचे पूर्व टीवी प्रस्तोता इलियासी

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Mar 2018 02:10:21 PM
Former TV presenter Suhaib Ilyasi reached the High Court against lifetime imprisonment

नई दिल्ली। पूर्व टीवी प्रस्तोता और प्रोड्यूसर सुहैब इलियासी ने18 वर्ष पहले अपनी पत्नी अंजू की हत्या के लिए दोषी ठहराए जाने और आजीवन कारावास की सजा के खिलाफ आज दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। न्यायमूर्ति विपिन सांघी और न्यायमूर्ति पी एस तेजी की पीठ के समक्ष इस अपील पर सुनवाई 15 मार्च को होने की संभावना है।

प्रबल इलाज के बाद स्वस्थ हुए अमिताभ बच्चन, Twitter पर साझा की खूबसूरत कविता

निचली अदालत के फैसले को चुनौती देने के अलावा इलियासी ने उच्च न्यायालय के समक्ष भी जमानत याचिका दायर की है। मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद पिछले वर्ष 16 दिसम्बर को उसे हिरासत में लिया गया था। इलियासी का प्रतिनिधित्व कर रहे वकील राजीव मोहन ने कहा कि हत्या के लिए धारा 302 के तहत आरोपों में संशोधन के बाद उन्हें सभी गवाहों से जिरह का अवसर नहीं दिया गया।

क्या सनी लियोनी बनाने जा रही है अपनी बायोपिक ?..पढ़े पूरी खबर!

निचली अदालत ने 20 दिसम्बर 2017 को पत्नी की हत्या के लिए इलियासी को आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए कहा, '' उसने हत्या कर इसे आत्महत्या का रंग दे दिया।" अदालत ने उस पर दो लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था और निर्देश दिया था कि अंजू के परिजन को मुआवजे के रूप में वह दस लाख रुपये का भुगतान करे। इस मामले में इलियासी पर पहले दहेज की खातिर हत्या के आरोप में भारतीय दंड संहिता की धारा 304(बी) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

श्रीदेवी से जाह्नवी की तुलना किए जाने पर कोरियोग्राफर-निर्देशक फराह खान ने कही ये बड़ी बात

बहरहाल अंजू की मां रूक्मा सिंह और बहन रश्मि सिंह ने दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया जिसने अगस्त 2014 में फैसला दिया था कि टीवी प्रोड्यूसर पर हत्या के अपराध के लिए भादंसं की धारा 302 के तहत मुकदमा चलाया जाए। अंजू को 11 जनवरी, 2000 को गंभीर जख्मों, जो उसे पूर्वी दिल्ली में स्थित उसके घर में हुये थे, के साथ अस्पताल लाया गया था।

दिल का दौरा पड़ने से मशहूर भारतीय अभिनेता नरेन्द्र झा की मौत

फिल्म 'ठग्स ऑफ हिंदुस्तान' से जुड़ा एक ओर नया चेहरा!

7 साल बाद सिल्वर स्क्रीन पर वापसी करने जा रही है ईशा देओल



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.