जन्मदिन विशेष: एक नजर डालिए मधुबाला के जीवन से जुड़े अनकहे किस्सों पर..

Samachar Jagat | Wednesday, 14 Feb 2018 01:47:01 PM
Madhubala Birthday Special

एंटरटेनमेंट डेस्क। अभिनेत्री मधुबाला उन अभिनेत्रियों में से एक थी जिन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में अपने दिलकश अभिनय से सभी के दिलों में एक खास पहचान बना ली थी। फिल्म जगत में उनके अभिनय में एक आदर्श भारतीय नारी को देखा जा सकता हैं। आपको बता दें कि मधुबाला का जन्म वेलेंटाइन डे 14 फरवरी को हुआ था। आज उनके जन्मदिन के अवसर पर आइए एक नजर डालते है उनके जीवन से जुड़े कुछ अहम पहलुओं पर।

अब वेब सीरीज फिल्म में काम करेंगे रवि किशन

जीवन

मधुबाला का जन्म 14 फरवरी 1933 को दिल्ली में एक मुस्लिम परिवार में हुआ था। मधुबाला का बचपन का नाम 'मुमताज़ बेग़म जहाँ देहलवी' था। उनके पिता अयातुल्लाह खान ये भविष्यवाणी सुन कर दिल्ली से मुम्बई एक बेहतर जीवन की तलाश मे आ गये। मुम्बई मे उन्होने बेहतर जीवन के लिए काफ़ी संघर्ष किया।ऐसा कहा जाता है कि एक भविष्यवक्ता ने उनके माता-पिता से ये कहा था कि मुमताज़ अत्यधिक ख्याति तथा सम्पत्ति अर्जित करेगी परन्तु उसका जीवन दुखःमय होगा।

Viral video: इंटरनेट पर जबरदस्त वायरल हो रहा है 'मैडम जी' नेहा पेंडसे का 'POLE DANCE'

फिल्मी सफर

उन्हें मुख्य भूमिका निभाने का पहला मौका केदार शर्मा ने अपनी फ़िल्म नील कमल (1947) में दिया। इस फ़िल्म मे उन्होने राज कपूर के साथ अभिनय किया। इस फ़िल्म मे उनके अभिनय के बाद उन्हे 'सिनेमा की सौन्दर्य देवी' (Venus Of The Screen) कहा जाने लगा। इसके २ साल बाद बाम्बे टॉकीज़ की फ़िल्म महल में उन्होने अभिनय किया। महल फ़िल्म का गाना 'आयेगा आनेवाला' लोगों ने बहुत पसन्द किया। इस फ़िल्म का यह गाना पार्श्व गायिका लता मंगेश्कर, इस फ़िल्म की सफलता तथा मधुबाला के कैरियर में, बहुत सहायक सिद्ध हुआ।

बॉलीवुड में उनका प्रवेश 'बेबी मुमताज़' के नाम से हुआ। उनकी पहली फ़िल्म बसन्त (1942) थी। देविका रानी बसन्त में उनके अभिनय से बहुत प्रभावित हुयीं, तथा उनका नाम मुमताज़ से बदल कर ' मधुबाला' रख दिया। उन्हे बालीवुड में अभिनय के साथ-साथ अन्य तरह के प्रशिक्षण भी दिये गये। (12 वर्ष की आयु मे उन्हे वाहन चलाना आता था)।

फिल्म 'फन्ने' खां से ऐश्वर्या राय बच्चन का फर्स्ट लुक आया सामने, अनिल कपूर के साथ 19 साल बाद..

निजी जिंदगी

मधुबाला को विवाह के लिये तीन अलग - अलग लोगों से प्रस्ताव मिले। वह सुझाव के लिये अपनी मित्र नर्गिस के पास गई। नर्गिस ने भारत भूषण से विवाह करने का सुझाव दिया जो कि एक विधुर थे। नर्गिस के अनुसार भारत भूषण, प्रदीप कुमार एवं किशोर कुमार से बेहतर थे। लेकिन मधुबाला ने अपनी इच्छा से किशोर कुमार को चुना। किशोर कुमार एक तलाकशुदा व्यक्ति थे। मधुबाला के पिता ने किशोर कुमार से बताया कि वह शल्य चिकित्सा के लिये लंदन जा रही है तथा उसके लौटने पर ही वे विवाह कर सकते है। मधुबाला मृत्यु से पहले विवाह करना चाहती थीं ये बात किशोर कुमार को पता था।

1960 में उन्होने विवाह किया। परन्तु किशोर कुमार के माता-पिता ने कभी भी मधुबाला को स्वीकार नही किया। उनका विचार था कि मधुबाला ही उनके बेटे की पहली शादी टूटने की वज़ह थीं। किशोर कुमार ने माता-पिता को खुश करने के लिये हिन्दू रीति-रिवाज से पुनः शादी की, लेकिन वे उन्हे मना न सके।

दिलीप कुमार से सम्बन्ध

ज्वार भाटा (1 9 44) की सेट पर वह पहली बार दिलीप कुमार से मिला उनकी मने दिलीप कुमार की प्रति आकर्षण पैदा हुई और उन्होंने उनसे प्यार करने के लिए लगीं। उस समय वह 18 साल की थीं और दिलीप कुमार ने 2 9 साल के थे। उन्होंने 1951 में रेहाना में फिर से काम किया था। उनकी प्रेम मुग़ल-ए-आज़म की 9 साल की शूटिंग शुरू होने के समय और भी गहरा हो गया था। वह दिलीप कुमार से विवाह करना चाहती थीं लेकिन दिलीप कुमार ने अस्वीकार कर दिया। यह भी कहा जाता है कि दिलीप कुमार तैयार हैं, लेकिन मधुबाला के लालचिक रिश्तेदारों ने इन शादी नहीं होने दिया। 1958 में अयातुल्लाह खान ने कोर्ट में दिलीप कुमार के खिलाफ़ एक केस के लिए दोनों के पास प्रेम खत्म करने के लिए बाध्य भी किया था।

Source - Google

 



 
loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.