भारत में #mee too के तूफान ने पकड़ा जोर: कई बड़ी हस्तियां आई लपेटे में

Samachar Jagat | Tuesday, 09 Oct 2018 11:11:27 AM
#Mee too hurricane caught in India: many big celebrities come wrapped in

मुंबई/नई दिल्ली। यौन शोषण के खिलाफ शुरू हुए "मीटू अभियान का तूफान धीरे धीरे बढ़ता नजर आ रहा हैं। कई महिलाओं ने मनोरंजन और मीडिया जगत में यौन शोषण से जुड़े अपने अनुभव साझा किए जिनके बाद फिल्म इंडस्ट्री के दिग्गज सेलिब्रिटी चर्चाओं में बने हुए हैं। इसके तहत अभिनेता रजत कपूर ने अपने कथित दुराचार के लिए माफी मांगी जबकि कॉमेडी ग्रुप एआईबी के दो सदस्यों के समूह से खुद को दूर करने के साथ उसका अस्तित्व अनिश्चितता के घेरे में आ गया।

Bigg Boss 12: इन कंटेस्टेंट्स को घर में 'महान' बनने की चुकानी पड़ी ये कीमत

पिछले कुछ सालों में कथित यौन शोषण का शिकार बनीं महिलाओं ने अपने कथित गुनहगारों के नाम सार्वजनिक किए जिसके साथ सोशल मीडिया पर नए नामों की बाढ़ सी आ गई हैं। इसी बीच महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने कहा कि यौन उत्पीडऩ और शोषण को लेकर मन में बना हुआ गुस्सा कभी नहीं जाता। उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में संवाददाताओं से कहा कि वह बहुत खुश हैं कि "मी टू अभियान भारत में भी शुरू हो गया है और इससे महिलाओं को सामने आकर शिकायत करने का हौसला मिला है।

जहां नाना पाटेकर के खिलाफ तनुश्री दत्ता के आरोपों के साथ कथित गुनहगारों के खिलाफ यौन शोषण आरोपों के सामने आने का सिलसिला शुरू हुआ है, वहीं मीडिया जगत में इसके घेरे में आने के बाद अब अंग्रेजी के एक प्रमुख अखबार के दिल्ली ब्यूरो के प्रमुख ने कथित रूप से अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे फिल्मकार विकास बहल भी अब विवादों में फंसते नजर आ रहे हैं। विकास बहल पर पिछले साल पहली बार आरोप सामने आए थे और हाल में एक लेख में पीडिता के हवाले से पूरी घटना की जानकारी दी गयी। इससे पहले 'फैंटम फिल्म्स' प्रोडक्शन हाउस भंग कर दिया गया जिसकी अनुराग कश्यप, विक्रमादित्य मोटवानी, मधु मंतेना और विकास बहल ने मिलकर स्थापना की थी।

वहीं दूसरी तरफ विकास की नई फिल्म 'सुपर 30' में काम कर रहे अभिनेता ऋतिक रोशन ने मामले को लेकर अपनी चुप्पी तोड़ी। उन्होंने कहा, ''मेरे लिए ऐसे किसी इंसान के साथ काम करना असंभव है अगर वह इस तरह के गंभीर दुरूचार का दोषी है। मैं अभी बाहर हूं और मुझे छिटपुट जानकारी ही मिल रही है। मैंने 'सुपर 30' के निर्माताओं से जाहिर तथ्यों का जायजा लेने और जरूरत पडऩे पर कड़ा रूख अपनाने का अनुरोध किया है।" व्यंग्य एवं स्टैंड अप कॉमेडी कार्यक्रमों से लोकप्रिय हुए 'एआईबी' के मानव संसाधन विभाग की प्रमुख विधि जोतवानी ने कहा कि एआईबी का भविष्य भी फैंटम फिल्म्स की तरफ हो सकता है।

एआईबी ने यौन उत्पीडऩ के आरोपों में घिरे गुरसिमरन खंबा को अस्थायी छुट्टी पर भेजने का फैसला लिया है, वहीं संस्थापक तन्मय भट्ट मामले के स्पष्ट होने तक एआईबी की दैनिक गतिविधियों से हर तरह से अलग रहेंगे। कंपनी ने सोमवार को यह घोषणा की। लेखक-कॉमेडियन उत्सव चक्रवर्ती, खंबा पर सीधे तौर पर यौन दुव्यर्वहार के आरोप हैं, जबकि तन्मय उनके (आरोपियों के) खिलाफ कदम ना उठाने को लेकर निशाने पर हैं। विधि ने कहा, '' ईमानदारी से, हमें नहीं पता कि एआईबी के भविष्य के संबंध में इसके क्या मायने हैं या वह (भविष्य) बचा भी है या नहीं। आशीष शाक्य, रोहन जोशी और टीम के अन्य वरिष्ठ सदस्य अगले कई महीनों में इस प्रश्न का उत्तर देने में सक्षम होने की दिशा में काम करेंगे।" 

बयान में कहा गया कि भट्ट कंपनी के नियमित कामकाज में हिस्सा नहीं लेंगे। कंपनी के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर जारी किए गए बयान में कहा गया, ''सोशल मीडिया पर एआईबी और हमारे सह-संस्थानक और सीईओ तन्मय भट्ट के खिलाफ लगाए जा रहे आरोपों की हम गहराई से निगरानी कर रहे हैं। हम तन्मय की भूमिका की अनदेखी नहीं कर सकते इसलिए आगे कोई नोटिस मिलने तक वह एआईबी से हट रहे हैं।" चक्रवर्ती के खिलाफ पिछले हफ्ते आरोप सामने आए जब कई महिलाओं ने उनपर बेवजह नग्न तस्वीरें भेजने के आरोप लगाए।

मशहूर अभिनेता और 'आंखों देखी' जैसी फिल्मों के निर्देशक रजत कपूर पर एक महिला पत्रकार ने अशिष्ट और गैर-पेशेवर व्यवहार का आरोप लगाया। इसके बाद कपूर ने कहा है कि उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी में एक अच्छा इंसान बनने की कोशिश की और वह दिल से माफी मांगते हैं। कपूर ने रविवार को ट्वीट कर महिला पत्रकार से माफी मांगी। महिला पत्रकार ने आरोप लगाया था कि वर्ष 2007 में जब वह उनका साक्षात्कार लेने गईं थी तब कपूर के व्यवहार से वह असहज हो गयी थीं।

कपूर ने माफी मांगते हुए कहा कि पूरी जिंदगी उन्होंने एक अच्छा इंसान बनने की कोशिश की है। अगर मेरे शब्दों या किसी हरकत से किसी को भी दुख पहुंचा हो..। उन्होंने लिखा, ''मैं दिल से माफी मांगता हूं और दुखी हूं कि मैं किसी भी इंसान के दुख का कारण बना। अगर काम से अधिक मेरे लिए कुछ भी महत्वपूर्ण है तो वह है एक अच्छा इंसान बनना। और मैंने हमेशा वह इंसान बनने की कोशिश की है। अब मैं और अधिक प्रयास करूंगा।" महिला पत्रकार ने अपने साथी पत्रकार से घटना के बारे में बात की थी, जिसने (मित्र ने) ट्विटर पर उनकी बातचीत के स्क्रीनशॉट साझा कर दिए थे, जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ा।

फेमस गजल सिंगर पंकज उधास ने दिल्ली के लोगों से यातायात नियमों का पालन करने की अपील की

नाना पाटेकर ने एक बार फिर इससे इनकार किया कि उन्होंने वर्ष 2008 में फिल्म की सेट पर तनुश्री दत्ता के साथ कोई बदसलूकी की थी और तनुश्री के आरोपों ''झूठ" करार दिया। बता दें कि तनुश्री और नाना का ये विवाद करीब 10 साल पुराना हैं। जिसपर एक बार फिर तनुश्री ने अपनी आवाज उठाई हैं। वहीं राष्ट्रीय राजधानी में इंडियन वीमेंस प्रेस कोर (आईडब्ल्यूपीसी) ने मीडिया घरानों से यौन शोषण की शिकायतों पर ध्यान देने के लिए संस्थागत तंत्र का गठन करने की मांग की।

आईडब्ल्यूपीसी की अध्यक्ष टी के राजलक्ष्मी ने एक बयान में कहा, ''यह बात परेशान करने वाली है और गंभीर चिंता का विषय है कि उचित प्राधिकरणों के संज्ञान में लाए जाने के बावजूद कई शिकायतों पर सुनवाई नहीं हुई।" उन्होंने कहा, ''आईडब्ल्यूपीसी सभी महिला पत्रकारों और मीडिया में काम कर रहीं महिला कर्मचारियों का समर्थन करता है जो अपने सहकॢमयां एवं वरिष्ठों के हाथों यौन शोषण का शिकार हुईं और जिन्होंने अपनी आपबीती बयां करने की हिम्मत दिखायी।" - एंजेंसी

 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.