फिल्म रिव्यु : विद्या बालन ने बखूबी जिया दुर्गा रानी सिंह का किरदार 

Samachar Jagat | Friday, 02 Dec 2016 10:24:46 AM
फिल्म रिव्यु : विद्या बालन ने बखूबी जिया दुर्गा रानी सिंह का किरदार 

फिल्म का नाम - कहानी 2 
कलाकार-विद्या बालन,अर्जुन रामपाल
निर्देशक -सुजॉय घोष
मूवी टाइप- थ्रिलर 
अवधि-2 घंटा 10 मिनट
रेटिंग - 2.5/5 स्टार 

सुजॉय घोष निर्देशित फिल्म कहानी 2 रिलीज़ हो चुकी है। ये फिल्म 2012 में आई कहानी का सीक्वल है। फिल्म कहानी दर्शकों को बहुत पसन्द आयी थी। विद्या बालन की उम्दा एक्टिंग ने दर्शकों का दिल जीत लिया था। एक बार और सुजॉय ने नए फ्लेवर में एक नयी कहानी बताने की कोशिश की है।

आइये जानते है कैसी है ये फिल्म -
 

कहानी 2 की कहानी -

फिल्म की कहानी शुरू होती है विद्या के सिन्हा से। विद्या के सिन्हा  (विद्या बालन) की जिंदगी में सिर्फ एक चाहत है। वह अपनी पैरालाइज्ड (लकवाग्रस्त) टीनेजर बेटी मिनी को फिर से चलते हुए देखना चाहती है। विद्या के सिन्हा (विद्या बालन) और उसकी बेटी मिनी (नायशा खन्ना) चंदन नगर में शांति पूर्वक जीवन जी रहे हैं। विद्या की प्यारी सी बच्ची मिनी उसकी जिंदगी है, वो उसके बिना रहने के बारे में सोच भी नहीं सकती है। लेकिन एक दिन मिनी का अपहरण हो जाता है जिससे विद्या बदहवास हो जाती है। मिनी को ढूंढ़ने के लिए निकलती है और उसका एक्सीडेंट हो जाता है जिसके कारण वह कोमा में चली जाती है।

इस हिट एंड रन के मामले की जांच के लिए इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह (अर्जुन रामपाल) अस्पताल पहुंचता है।मामले की छानबीन के दौरान उसके सामने विद्या का रहस्मय अतीत उजागर होता है। विद्या की दुर्गा रानी सिंह वाली पहचान सामने आती है। 36 वर्षीय दुर्गा एक वॉन्टेड क्रिमिनल है जिसको पुलिस तलाश कर रही है। इस तलाश में कई पाने खुलते है। असल में विद्या के सिन्हा है कौन ? कहानी का अंत देखने के लिए तो आपको नज़दीकी सिनेमा घर तक जाना ही पड़ेगा। 

स्क्रिप्ट-
सुजॉय घोष ने चार साल पहले दर्शकों को 'कहानी' जैसी शानदार फिल्म दी थी। यह उसी का सीक्वल है। कहानी 2 आपके अंदर कौतूहल और जिज्ञासा तो जरूर पैदा करेगी लेकिन पूरी फिल्म के दौरान शायद आपको जकड़ कर न रख सके। इसमें पहली फिल्म जैसी धार और तीखापन नहीं है। हालांकि आप विद्या सिन्हा का किरदार आपका दिल छू लेगा। मगर इस बार की कहानी इस बार उतनी मज़बूत नहीं।  कहानी को और भी कसा जा सकता था। फिल्म की लंबाई भी सेकांग हाफ में बोर करती है। 

निर्देशन -
सुजॉय घोष ने अपने काम में जान डालने की कोशिश की है। इस बार भी उन्होंने सस्पेंस थ्रिलर फिल्म से सबको चौकाने की कोशिश की है। मगर ये कहानी ज़्यादा देर बंधने में कामयाब नहीं हो सकती। सिनेमाटोग्राफी अला दर्जे की है। 

एक्टिंग -
हार बार की तरह इस बार भी विद्या बालन अपने किदार में उतरती नज़र आयी है। उनका अभिनय इस बार भी दर्शकों का दिल जीत लेगा। वही अर्जुन रामपाल भी पुलिस के किरदार में बेहतरीन अभिनय करते नज़र आ रहे है। बाल कलाकार और बाकी आर्टिस्ट का काम भी सहज है। 
म्यूजिक -
फिल्म का बैकग्रॉउंग स्कोर अच्छा है। जैसा हर थ्रिलर फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर ऐसा ही होना चाहिए। फिल्म का म्यूजिक सस्पेन्स क्रिएट करने में कामयाब रहा। 

क्यों देखे -
अगर आपको थ्रिलर मूवीज पसंद हैं और आप विद्या बालन की एक्टिंग कायल हैं या अर्जुन रामपाल का फैन है तो कहानी 2 को एक बार देखना तो बनता है।


जानिए कैसे लड़कों के लिए क्रेज़ी होती है लड़कियां

सर्दियों में गर्भ धारण करने वाली मांओं को डायबिटीज का खतरा अधिक

नहीं जानते होगें शराब के इन अचूक फायदो के बारें में

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.