स्कूल का समय बहुत जल्द होने से बच्चों को हो सकता मानसिक अवसाद

Samachar Jagat | Wednesday, 11 Oct 2017 02:59:09 PM
Children may be mentally depressed due to the time of school

हेल्थ डेस्क। ज़िंदग़ी के कई अहम पड़ाव जैसे- किसी नज़दीक़ी की मौत, नौकरी चले जाना या शादी का टूट जाना, आम तौर पर अवसाद की वजह बनते हैं। इनके साथ ही अगर आपके मन में हर समय कुछ बुरा होने की आशंका रहती है तो इससे भी अवसाद में जाने का ख़तरा रहता है। अवसाद किसी भी ऐज में हो सकता है। लेकिन यहां हम बात करते है क्यों?किशोरों में अवसाद का कारण है स्कूल का समय, आईये जानते है .....

बात- बात पर उगुलियां चटकना हो सकता है हानिकारक

एक शोध जो  नींद और किशोरों के मानसिक स्वास्थ्य के बीच संबंध तो सामने लाया है, इसके माध्यम से यह भी पहली बार पता चला है कि स्कूल शुरू होने के वक्त का किशोरों की नींद और रोजर्मा के कामकाज पर भी गंभीर असर पड़ सकता है। यह शोध जर्नल स्लीप हैल्थ में प्रकाशित हुआ है। 

आंखों की रौशनी बढ़ाने के लिए इन चीज़ों को शामिल करें आहार में.....

जिसके अनुसार किशोरों के स्वास्थ्य तथा स्कूल शुरू होने के समय पर राष्ट्रीय बहस शुरू की जा सकती है। अमेरिका में यूनिवर्सिटी ऑफ रोसेस्टर में सहायक प्रोफेसर जेक प्लेट्ज ने बताया कि यह इस तरह का पहला शोध है जिसमें देखा गया है कि स्कूल शुरू होने का वक्त नींद की गुणवत्ता को किस तरह प्रभावित करता है। उन्होंने कहा, वैसे तो कई अन्य चीजों पर भी ध्यान देने की जरूरत है लेकिन हमारे शोध में सामने आए निष्कर्ष बताते हैं कि स्कूल का समय बहुत जल्द होने से नींद की प्रक्रिया प्रभावित होती है और इससे मानसिक स्वास्थ्य संबंधी लक्षण बढ़ जाते हैं।

ज्यादा मात्रा में नमक के सेवन से हो सकता है खतरा

शोधकर्ताओं ने देशभर के 14 से 17 वर्ष आयुवर्ग के 197 छात्रों का डाटा ऑनलाइन तरीके से जुटाया था। इन्हें दो समूहों में बांटा गया था। पहले वे जिनका स्कूल सुबह साढ़े आठ बजे से पहले शुरू होता है और दूसरे वे जिनका स्कूल साढ़े आठ के बाद शुरू होता है। अच्छी सेहत और कामकाज के लिए आठ से दस घंटे की नींद की जरूरत होती है लेकिन हाई-स्कूल के लगभग 90 फीसदी किशोरों की नींद पूरी नहीं होती। 

sourse google 

बच्चों की लंबाई को लेकर चिंता होने की बजाय खाने में शामिल करे ये चीज़ें

Research: सहीं डाइट और एक्सरसाइज के साथ अस्थमा से पा सकते है निजात

ये है स्तन कैंसर का रहस्य जिसे जानकर हो जायेंगे हैरान

 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.