अवसाद के शिकार बच्चों में सामाजिक, अकादमिक कौशल की कमी की छह गुना ज्यादा आशंका

Samachar Jagat | Sunday, 02 Sep 2018 10:21:44 AM
Depression children, six times more fear of lack of social and academic skills

टोरंटो। अवसाद से पीडि़त बच्चों में सामाजिक और अकादमिक कौशल में कमी की छह गुना अधिक संभावना होती है। ऐसे बच्चों को लोगों से बातचीत और पढ़ाई में परेशानी हो सकती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि छह से 12 वर्ष तक की आयु के तीन प्रतिशत बच्चों में अवसाद की समस्या हो सकती है लेकिन माता-पिता तथा शिक्षक बच्चों में अवसाद को आसानी से नहीं पहचान पाते।

तमिल फिल्म में काम करेंगे अमिताभ बच्चन, निर्देशक ने कहा अमिताभ के साथ काम करना उनके लिए ड्रीम को पूरा करने जैसा

अमेरिका के मिसौरी विश्वविद्यालय में प्रोफेसर कीथ हर्मन ने कहा, ''जब आप शिक्षकों और माता-पिता को बच्चों में अवसाद का स्तर मापने के लिए कहते हैं तो आम तौर पर उनकी रेटिंग में 5-10 प्रतिशत का अंतर होता है।" उन्होंने कहा, ''उदाहरण के तौर पर शिक्षक को यह पता हो सकता है कि बच्चे को कक्षा में दोस्त बनाने में परेशानियां आ रही हैं लेकिन शायद माता-पिता घर में इस बात पर ध्यान न दे सके हों।"

ऐश्वर्या ने निर्माता से कहा- पहले फिल्म के अधिकार लाएं उसके बाद ही करूंगी 60 के दशक की इस फिल्म में काम

शोधकर्ताओं ने इस अध्ययन के लिए प्राथमिक स्कूल के 643 बच्चों के प्रोफाइल का विश्लेषण किया। उन्होंने बताया कि पढ़ाई में 30 प्रतिशत बच्चों में अवसाद का हल्के से ज्यादा अनुभव हुआ लेकिन माता-पिता और शिक्षक अक्सर बच्चों में अवसाद को पहचानने में विफल हो जाते हैं। हर्मन ने पाया कि जिन बच्चों में अवसाद के संकेत पाए गए, उनमें अपनी उम्र के अन्य बच्चों के मुकाबले कौशल की कमी की छह गुना ज्यादा आशंका होने की बात सामने आई।

फिल्म बनाने को लेकर सोनम कपूर ने कही ये बात, हमेशा रहेगी अच्छी पुस्तकों पर फिल्म बनाने के पक्ष में

Movie Review: कॉमेडी का डबल डोज है धर्मेन्द्र, सनी और बॉबी की फिल्म यमला पगला दिवाना फिर से



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.