स्वास्थ्य के लिए बड़ा फायेदमंद है करीपत्ता

Samachar Jagat | Saturday, 26 Nov 2016 01:09:45 PM
स्वास्थ्य के लिए बड़ा फायेदमंद है करीपत्ता

करी पत्ते के को भला कौन नहीं जानता। इसे मीठा नीम भी कहा जाता है। भारतीय रसोई में इसका उपयोग भोजन को स्वादिष्ट और सुंगधित बनाने के लिए किया जाता है। करी पत्ते में कई औषधीय गुण पाए जाते है। जो शरीर के लिए बेहद फायदेमंद साबित होते है। यह सेहत की कई सारी बीमारियों में इस्तेमाल किया जाता है जिनके बारे में हम आपको बताने जा रहे है। तो आइए जानिए करी पत्ते के गुणकारी लाभो के बारे में।

टमाटर सूप के फायदे

दिल की बीमारी- करी पत्ते में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो ब्लड में मौजूद कोलेस्ट्रॉल को कम करनें में सहायक होता है। ये एंटी ऑक्सीडेंट फैट के आर्टरीज में जमने से भी रोकते है, जिससे दिल की बीमारी को दूर रखा जा सकता है। इसका इस्तेमाल खानें के साथ साथ कच्चा चबाकर भी किया जा सकता है।

लीवर को रखें स्वस्थ-

करी पत्ते में डिटाक्सीफायर है जो लीवर के टाक्सन्स को बाहर निकाल देता है। करी पत्ते के नियमित सेवन से लीवर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचा रहता है। शुध्द घी को गर्म करें। इसमें एक कप करी पत्ते का जूस, थोड़ी सी चीनी और पीसी हुई काली मिर्च मिलाएं और आंच पर थोड़ा गर्म करें। उबाल आने पर आंच से उतारकर ठंडा होने दें। इसे रोज एक चम्मच इसे ले।

प्रेगनेंसी के समय कुपोषण के गंभीर प्रभाव

डायबिटिज में फायदा-

 करी पत्ते मौजूद एंटीडायबिटिक एजेंट और फाइबर, इंसुलिन की मात्रा को नियंत्रित कर ब्ल़ड शुगर लेवल को घटाता है। रोज सुबह खाली पेट 5-6 करी पत्ते का सेवन करनें से डायबिटिज को नियंत्रित किया जा सकता है।

पेट संबधी बीमारियों को रखे दूर-

करी पत्ता पेट की बीमारियों में भी बडी असरकारक होती है। करी पत्ते में मौजूद कार्बाजोल एल्केलाइड्स होते है जो पेट से पित्त को दूर करनें में सहायक होते है। एसिडिटी,कब्ज, डायरिया, और पेट से जुड़ी किसी भी समस्या में थोड़े से करी पत्तो को पीसकर छाछ में मिलाकर दिन में 2 या 3 बार पीने से काफी आराम मिलता है।

सफेद बालों से मुक्ति-

करी पत्ते में विटामिन बी1, बी3, बी9 और विटामिन सी होते है। इसके अलावा इसमें कैल्शियम और फास्फोरस भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। जो बालों को सफेद होने और डैंड्रफ की समस्या से भी छूटकारा दिलाता है। रात भर 6 से 7 भीगे बादामों के साथ 10-15 करी पत्ते को पीस ले।  इस पेस्ट को हफ्ते में एक बार बालों में लगाकर मसाज करें और कुछ देर लगानें के बाद फिर शैंपू से धो लें।

सर्दी से बचनें के लिए कालीमिर्च और अदरक का करें सेवन

कफ दूर करनें में-

करी पत्ते में विटामिम सी, विटामिन के अलावा एंटीबैक्टेरिलय और एंटीफंगल एजेंट होते है जो नाक और सीने में जमा कफ को निकालनें में मददगार होते है। खांसी-जुकाम या कफ की शिकायत होने पर दिन में 2 बार एक चम्मच करी पत्ते के पाउडर को शहद में मिलाकर सेवन करें।

एनीमिया से रखे दूर-

करी पत्ता में आयरन और फॉलिक एसिड की मात्रा अधिक मात्रा में होती है। जो खून की कमी को पूरा करनें में मददगार करती है। खून की कमी से होने वाले होग एनीमिया के रोगी को रोज सुबह खाली पेट 2 से 3 करी पत्ते का सेवन करना चाहिए।

त्वचा के संक्रमण से बचाए-

करी पत्ते के एंटी ऑक्सीडेंट,एंटी बैक्टिरियल और एंटी फंगल गुण इसे त्वचा के लिए लाभकारी बनाते है। त्वचा में संक्रमण हो जाए तो उसे दूर करनें में भी करी पत्ते के पेस्ट को लगाने से बड़ा फायदा होता है।

पीरियड्स के समय-

महिलाओं में पीरियड्स के समय होने वाली परेशानी और दर्द में करी पत्ते का सेवन बड़ा राहत देता है। रोज सुबह-शाम करी पत्ते के पाउडर को गुनगुने पानी के साथ लेने से दर्द में राहत मिलती है।

इस तरीके से हुआ कृपाचार्य का जन्म, जानकर हैरान रह जाएंगे आप

जानिए! भगवान विष्णु के 10 अवतारों के बारे में ...

शनिदेव की कृपा से आज इस राशि के जातकों को मिलेगा व्यवसाय में लाभ

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर
ज्योतिष

Copyright @ 2016 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.