75% बीमारियों का मूल कारण है नकारात्मक सोच

Samachar Jagat | Monday, 08 Jan 2018 03:21:13 PM
The root cause of 75% of the diseases is negative thinking.

इंटरनेट डेस्क। इंसान को खुश रहने और कामयाब बनने के लिए सकारात्मक सोच रखना जरूरी है। अब तक आपने ऐसा सभी को कहते हुए सुना ही होगा। लेकिन अमेरिका में इस पर प्रयोग किया गया है। दरअसल अमेरिका की जेल में किसी कैदी को फांसी की सजा सुनाई गई। तो वहां के वैज्ञानिकों ने उस पर कुछ एक्सपेरिमेंट करने की सोची। उस कैदी को वैज्ञानिकों ने कहा कि तुम्हारी सजा में तुम्हें जहरीले सांपों से मारा जाएगा। जहरीला कोबरा सांप तुम्हें डसेगा। उसके बाद कैदी को आंखें बंद कर कुर्सी से बांध दिया गया।

Facebook पर 30 दिन में लिखी कहानियों ने लिया किताब का रूप

आंखें बंद करने से पहले उसके सामने कोबरा सांप लाया गया ताकि उसे वैज्ञानिकों की बात पर यकीन हो। आंखे बंद करने के बाद वहां से सांप को हटाकर कैदी को सेफ्टी पिन्स चुभाई गई। अमेरिका में जब एक कैदी को फांसी की सजा सुनाई गई तो वहां के कुछ वैज्ञानिकों ने सोचा कि क्यों न इस कैदी पर कुछ प्रयोग किया जाए। तब कैदी को बताया गया कि हम तुम्हें फांसी देकर नहीं लेकिन जहरीला कोबरा सांप डसाकर मारेंगे। इसके बाद कैदी की कुछ सेकेन्ड में ही मौत हो गई, पोस्टमार्टम के बाद पाया गया कि कैदी के शरीर में सांप के जहर के समान ही जहर है।

एक अनोखा मंदिर जहां महालक्ष्मी का जलेबी के जोड़े से होता है पूजन

यह जहर कैदी के शरीर में ही पैदा हुआ था। इंसान के अंदर सदमें से ही जहर बन गया और उसकी मृत्यु भी हो गई। इस एक्सपेरिमेंट से जाहिर होता है कि व्यक्ति के अंदर की सकारात्मक सोच और नकारात्मक सोच ही उसके जीवन पर प्रभाव डालती है।  हमारे हर संकल्प से पॉजिटीव एवं निगेटीव एनर्जी उत्पन्न होती है और वो हमारे शरीर में उस अनुसार हॉर्मोन्स उत्पन्न करती है। 75% बीमारियों का मूल कारण नकारात्मक सोंच से उत्पन्न ऊर्जा ही है । गूगल सोर्स

पैरासिमटोल खाने से महिलाओं में गर्भधारण का समय होता कम

सर्दियों में साइनस की समस्या को दूर करेंगे ये घरेलू उपाय



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.