पश्चिमी जापान में मूसलाधार बारिश से कम से कम 88 लोगों की मौत

Samachar Jagat | Monday, 09 Jul 2018 07:43:35 AM
At least 88 people died in torrential rains in western Japan

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

कुराशिकी। पश्चिमी जापान मेें पिछले कईं दिनों से जारी मूसलाधार बारिश और भूस्खलन की घटनाओं में सोमवार सुबह तक कम से कम 88 लोगों की मौत हो गई है। इनके अलावा कुराशिकी शहर में 2000 से अधिक लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं और दस से अधिक लोग लापता हैं।

अमेरिका में लोकतंत्र खतरे में, ट्रंप प्रशासन दे रहा है पवित्र संस्थानों को चुनौती 

भारी बारिश और वर्षा जनित हादसों को देखते हुए प्रशासन ने यहां रह रहे 20 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजे जाने के आदेश पहले ही जारी कर दिए थे और भूस्खलन की चेतावनी भी दी गई है। देश के पश्चिमी हिस्सों में बाढ़ का सबसे अधिक खतरा है और आपातकालीन सेवाओं, सैन्य कर्मियों तथा अन्य विभागों के कर्मचारी बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए नौकाओं तथा हेलीकाप्टरों की मदद ले रहे हैं।

खालिदा जिया जेल में बीमारी का 'ढोंग’ कर रही : प्रधानमंत्री हसीना

जापान की सेल्फ डिफेंस सेनाओं ने माबी मेमोरियल अस्पताल में फंसे अनेेेक लोगों को मोटरबोट की मदद से निकाला है। शहर के एक अधिकारी ने बताया कि कि रविवार देर रात 170 मरीजों तथा स्टाफ को निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया है और अभी भी 80 लोग यहां फंसे हुए हैं।

परमाणु मुद्दे पर अमेरिका की मांग 'धमकाने वाली': उत्तर कोरिया

इस शहर की आबादी पांच लाख से कम है लेकिन यह बारिश और भूस्खलन से सबसे अधिक प्रभावित है और वर्षा जनित हादसों में 77 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। सरकारी प्रसारक एनएचके ने बताया कि रविवार शाम शहर में अनेक स्थानों पर फंसे 2310 लोगों को बचाया गया और अन्य लोगों की तलाश में बचाव दल लगे हुए हैं।

एनएचके ने बताया कि सोमवार सुबह तक जापान में वर्षा जनित हादसों में कम से कम 88 लोगों की मौत हो गई है और 58 लोग अभी भी लापता हैं। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हालात काफी खतरनाक हैं। जापान सरकार ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय में एक आपातकालीन प्रबंधन केन्द्र की स्थापना की है

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.