बिम्सटेक देश जलवायु परिवर्तन पर विशेषज्ञ दल बनाने की संभावना खंगालेंगे

Samachar Jagat | Saturday, 01 Sep 2018 11:41:39 AM
BIMSTEC will explore the possibility of creating expert teams on climate change

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

काठमांडो। जलवायु परिवर्तन के प्रतिकूल प्रभावों को लेकर गंभीर चिंता प्रकट करते हुए भारत और बिम्सटेक के छह अन्य सदस्य देशों ने जरुरी सामूहिक कार्रवाई के वास्ते कार्ययोजना तैयार करने के लिए एक अंतर - सरकार विशेषज्ञ दल स्थापित करने की संभावना खंगालने का फैसला किया । दो दिवसीय चौथे बिम्सटेक सम्मेलन के समापन पर जारी काठमांडो घोषणा पत्र के अनुसार सदस्य देशों ने पर्यावरण की रक्षा और उसके संरक्षण के लिए सहयोग बढ़ाने का निश्चय किया । इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हिस्सा लिया ।

गूगल तेज का नाम बदलकर हुआ Google Pay, लकी विजेताओं को गूगल दे रहा 1 लाख रुपए का इनाम

घोषणा पत्र के मुताबिक नेताओं ने पर्यावरण के क्षरण, जलवायु परिवर्तन और धरती के बढ़ते तापमान का नाजुक हिमालयी और पर्वतीय पारिस्थितिकियों तथा बंगाल की खाड़ी एवं हिंद महासागर पर प्रतिकूल प्रभावों को लेकर गंभीर चिंता प्रकट की । उसके अनुसार बिम्सटेक देश लोगों के जीवन और उनकी जीविका पर जलवायु परिवर्तन के प्रतिकूल प्रभावों का समाधान करने के लिए पर्यावरण को सुरक्षित बचाए रखने के लिए सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए।

WRONG NUMBER से आने वाले कॉल और एसएमएस से निजात के लिए नई तकनीक विकसित करेंगे टेक महिंद्रा और माइक्रोसॉफ्ट

उन्होंने इस क्षेत्र के लिए जलवायु परिवर्तन के संबंध में जरुरी कार्रवाई हेतु कार्य योजना बनाने के लिए अंतर - सरकारी विशेषज्ञ दल स्थापित करने की संभावना खंगालने का निर्णय लिया। बिम्सटेक भारत, बांग्लादेश, म्यामांर, श्रीलंका, थाईलैंड और नेपाल का क्षेत्रीय संगठन संगठन है । इन देशों में विश्व की 22 फीसदी जनसंख्या रहती है और उसका संयुक्त सकल घरेलू उत्पाद 2.8 अरब डॉलर का है । - एजेंसी 

BSNL की इंटरनेट टेलिफोन सर्विस Wings हुई शुरू, ग्राहकों को 1 साल तक फ्री में मिलेगी इंटरनेशनल कॉलिंग

गूगल की भारत में हर जगह के व्यक्ति को इंटरनेट का इस्तेमाल करने में सक्षम बनाने की योजना

 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.