इजरायल में द्रुज समुदाय का प्रदर्शन

Samachar Jagat | Sunday, 05 Aug 2018 02:27:48 PM
Demographics of the Druze community in Israel

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

तेल अवीव। इजरायल के शहर तेल अवीव में द्रुज समुदाय के हजारों लोगों ने जमा होकर प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की सरकार और इजरायल को यहूदी राष्ट्र घोषित करने वाले कानून के खिलाफ प्रदर्शन किया। द्रुज प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को तेल अवीव के रोबिन चौराहे पर जमा होकर द्रुज झंडे फहराये और इजरायल को यहूदी राष्ट्र घोषित करने वाले कानून को निरस्त करने की मांग की।

भारतीय मूल के लोगों में अंग प्रतिरोपण की समस्याओं से निपटने के लिए ब्रिटेन में नया कानून

द्रुज के आध्यामिक नेता शेख मुवाफक तरिफ ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा, कोई हमें वफादारी का उपदेश नहीं दे सकता। सेना का कब्रिस्तान इसका गवाह है। हमारी वफादारी के बावजूद सरकार हमें बराबर नागरिक नहीं मानती। हमने जिस तरह सैन्य अधिकारों की लड़ाई लड़ी ठीक वैसे ही समानता और सम्मान की लड़ाई लडऩे के लिए हम दृढ़ संकल्प हैं।

इजरायल को यहूदी राष्ट्र घोषित करने वाले कानून के खिलाफ अल्पसंख्यक समुदाय द्रुज के लोगों में रोष है। श्री नेतन्याहू इस कानून को लेकर अपनी सरकार का बचाव कर रहे हैं। उनका कहना है कि देश में केवल यहूदियों को ही आत्म निर्णय का अधिकार है। श्री नेतन्याहू ने अरबी भाषा के आधिकारिक भाषा के दर्जे का समाप्त कर दिया है। इसे लेकर उनको देश के भीतर और बाहर कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

उज्बेकिस्तान के साथ द्विपक्षीय और क्षेत्रीय महत्व के मुद्दों पर हुई चर्चा

द्रुज समुदाय इस कानून के पारित होने के बाद अपने आप को छला हुआ महसूस कर रहा है। इस कानून के आने से द्रुक इजरायल में दोयम दर्जे के नागरिक बनकर रह गये हैं। इजरायल में द्रुज की संख्या 1,20,000 है जो आबादी का महज दो प्रतिशत है। द्रुज अरब समुदाय के संबंध रखने वाला एक अल्पसंख्यक समूह है। इनकी सबसे ज्यादा संख्या लेबनान और सीरिया में है।- एजेंसी

पहले व्यावसायिक यान के लिए नासा ने सुनीता विलियम्स सहित नौ को किया नामित

उ. कोरिया का परमाणु एवं मिसाइल कार्यक्रम जारी: संयुक्त राष्ट्र

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.