हैकरों ने करीब 3 करोड़ फ़ेसबुक उपयोगकर्ताओं के डाटा में सेंधमारी की

Samachar Jagat | Saturday, 13 Oct 2018 04:45:30 PM
Hackers broke into data of nearly 30 million Facebook users

वॉशिंगटन। सोशल मीडिया कंपनी फ़ेसबुक ने कहा है कि हाल में उसके सिस्टम को हैक किये जाने से उसके करीब 3 करोड़ उपयोगकर्ता प्रभावित हुए हैं। फ़ेसबुक के उपयोगकर्ताओं का सबसे बड़ा आधार भारत में है। फ़ेसबुक प्रोडक्ट मैनेजमेंट के उपाध्यक्ष गाय रोसेन ने शुक्रवार को बताया कि साइबर हमलावरों ने फ़ेसबुक के कोड में भेद्यता का फायदा उठाया।

कोड में यह कमी जुलाई 2017 और सितंबर 2018 के बीच रही। इस कमी को अब दूर कर दिया गया है। हालांकि, इससे पहले हमलावरों ने एकाउंट से एकाउंट जाने के लिए स्वचालित तकनीक का यूज किया जिससे वे उपयोगकर्ताओं, उनके दोस्तों, दोस्तों के दोस्तों के एक्सेस टोकन को चुरा सके और इस तरह उन्होंने लगभग 400,000 लोगों के एकाउन्ट में सेंधमारी की।

रोसेन ने बताया कि हमलावरों ने दोस्तों की इन 400,000 लोगों की सूची के एक हिस्से का इस्तेमाल करीब 3 करोड़ लोगों का एक्सेस टोकन चुराने में किया। 1.5 करोड़ लोगों से हमलावरों ने 2 तरह की सूचना हासिल की। इसमें नाम और संपर्क का ब्यौरा जैसे फोन नंबर, ई-मेल या दोनों। यह इस पर निर्भर करता था कि लोगों ने अपने प्रोफाइल में क्या डाल रखा था।

अन्य 1.4 करोड़ लोगों के लिए हमला संभावित रूप से अधिक हानिकारक था क्योंकि हैकरों ने उनके नाम और संपर्क विवरण के साथ-साथ यूजर नेम, लिंग, स्थान, भाषा, रिश्ते की स्थिति, धर्म, गृहनगर, जन्मतिथि, फ़ेसबुक का इस्तेमाल करने के लिये उपयोग किये जाने वाले उपकरण, शिक्षा, कार्य विवरण, उन स्थानों पर जहां हाल में वे गए, लोग या पेज जिन्हें वे फॉलो करते हैं और 15 सबसे हाल के सर्च भी हासिल कर लिये थे।

रोसेन ने बताया कि शेष दस लाख लोग जिनके एक्सेस टोकन चोरी हो गए थे, हमलावरों ने उनके बारे में कोई भी जानकारी नहीं हासिल की। उन्होंने कहा कि फ़ेसबुक ने दो हफ्ते पहले ही उपयोगकर्ताओं के एकाउन्ट को सुरक्षित कर लिया है और उन्हें फिर से लॉग आउट करने या अपने पासवर्ड बदलने की आवश्यकता नहीं है।

कंपनी ने कहा कि इस हमले ने फ़ेसबुक के स्वामित्व वाले मैसेंजर, मैसेंजर किड्स, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, ऑकुलस, वर्कप्लेस, थर्ड-पार्टी ऐप, भुगतान, पेज, और विज्ञापन या डेवलपर एकाउन्ट को प्रभावित नहीं किया।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.