घोटकी बहनों को अपने पतियों के साथ रहने की न्यायालय से इजाजत

Samachar Jagat | Thursday, 11 Apr 2019 03:50:59 PM
Hindu girls religion change case

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में सिंध प्रांत के घोटकी जिले में दो हिंदू लड़कियों के कथित रुप से धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम पुरुषों के साथ निकाह करने के मामले में इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने गुरुवार को दोनों बहनों को अपने पतियों के साथ रहने की इजाजत दे दी। उच्च न्यायालय दोनों बहनों की अपने पतियों के साथ रहने की याचिका पर सुनवाई कर रहा था।

Loading...

घोटकी जिले के दाहारकी की रहने वाली रवीना और रीना ने पिछले माह उच्च न्यायालय की शरण लेते हुए सरकार, पुलिस और उनके परिवार द्बारा जबरदस्ती वापस लाने और फिर जबरदस्ती हिंदू धर्म में परिवर्तन से संरक्षण की गुहार लगाई थी। दोनों बहनों का कहना है कि उन्होंने अपनी इच्छा से इस्लाम धर्म अपनाकर निकाह कर लिया है।

न्यायालय आज की सुनवाई में उच्च न्यायालय ने दोनों तरफ की दलीलें सुनने के बाद दोनों बहनों को उनके पतियों के साथ रहने की अनुमति दे दी। न्यायालय ने गृह सचिव को दोनों बहनों और उनके पतियों की सुरक्षा निश्चित करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा न्यायालय ने जांच आयोग को 14 मई तक अंतिम रिपोर्ट देने का निर्देश देते हुए सुनवाई स्थगित कर दी।

इस मामले में न्यायालय ने दो अप्रैल को 5 सदस्यीय जांच आयोग का गठन किया था। पाकिस्तान चिकित्सा विज्ञान संस्थान के रेडियोलॉजी विभाग ने एक चिकित्सा रिपोर्ट न्यायालय के समक्ष पेश की जिसमें कहा गया है कि विवाह के समय दोनों बहने नाबालिग नहीं थीं। रिपोर्ट में रवीना की उम्र साढे उन्नीस वर्ष और रीना की साढे अठारह वर्ष बताई गई है। दोनों बहनों की उम्र का पता हड्डियों का एक्स-रे कर लगाया गया है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.