भारत ने कहा ब्रिटेन वांछित अपराधियों के लिए पनाहगाह नहीं बने

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Jun 2018 02:43:43 PM
India said Britain did not become a haven for wanted criminals

नयी दिल्ली। भारत ने आज कहा कि ब्रिटेन को अन्य देशों में वांछित अपराधियों के लिये सुरक्षित पनाहगाह नहीं समझा जाना चाहिए वहीं ब्रिटेन ने भगोड़े भारतीय जौहरी नीरव मोदी के अपने देश में होने की पुष्टि की ब्रिटेन के आतंकवाद रोधी विभाग के मंत्री बैरोन्स विलियम्स को भारत का यह स्पष्ट संदेश केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरेन रिजीजू ने यहां एक बैठक के दौरान दिया है।

गृह मंत्रालय ने बयान में कहा कि रिजीजू ने बैठक में भारत में वांछित नीरव मोदी, शराब व्यवसायी विजय माल्या जैसे भगोड़ों के मुद्दे को उठाते हुए कहा कि ब्रिटेन को अन्य देश में वांछित अपराधियों के लिये सुरक्षित पनाहगाह नहीं समझा जाना चाहिए।

वार्ता से पहले ट्रंप ने आबे, दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति से की चर्चा

गृह राज्यमंत्री ने विलिम्स से कहा कि भारत अदालतों का सम्मान करता है और वांछित लोगों को वापस लाने के लिये ब्रिटेन में कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करेगा बयान के अनुसार जेलों की स्थिति के मुद्दे पर ब्रिटेन की आशंका दूर करते हुए रिजीजू ने कहा कि भारतीय जेलों में मानवाधिकारों के उल्लंघन को लेकर पर्याप्त सुरक्षात्मक उपाय किये गये हैं।

होटल मामला: ट्रंप पर अवैध विदेशी भुगतान लेने का आरोप

उन्होंने कहा कि भारत में लोकतंत्र हैं और अंतरराष्ट्रीय कानून का पूर्ण रूप से पालन करता है। शीर्ष अधिकारियों के अनुसार ब्रिटिश प्रतिनिधिमंडल ने नीरव मोदी के अपने यहां होने की पुष्टि की नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक में 13,000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी मामले में आरोपी है।

बैठक से जुड़े एक अधिकारी ने कहा, ''ब्रिटेन के अधिकारियों ने नीरव मोदी के वहां मौजूद होने की सूचना दी है। विलियम्स ने रिजीजू के साथ यहां बैठक में नीरव मोदी, शराब कारोबारी विजय माल्या एवं अन्य के प्रत्यर्पण में तेजी लाने में भारत के प्रयास में पूर्ण सहयोग देने को लेकर आश्वस्त किया है।

विजय माल्या के प्रत्यर्पण का मुद्दा उपयुक्त कानूनी चैनलों से बढ़ रहा है आगे : ब्रिटिश मंत्री

नीरव मोदी फरार है और अबतक प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) एवं अन्य एजेंसियों की जांच में पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हुआ है। करीब एक घंटे चली बैठक के बाद रिजीजू ने संवाददाताओं से कहा, '' ब्रिटेन के मंत्री बैरोन्स विलियम्स के साथ सार्थक बैठक हुई है। हमने आतंकवाद और चरमपंथ से निपटने के लिये भारत-ब्रिटेन के संयुक्त प्रयास पर चर्चा की है।

नीरव मोदी के खिलाफ ईडी, सीबीआई तथा आयकर विभाग ने अनुरोध पत्र 'यूके सेंट्रल आथोरिटी’ (यूकेसीए) को क्रमश: 19 मार्च, 14 अप्रैल तथा 15 अप्रैल को भेजे थे यूकेसीए ने अनुरोध पत्रों पर आगे की कार्रवाई के लिये इसे गंभीर धोखाधड़ी कार्यालय को भेजे ईडी नीरव मोदी तथा उसके मामा मेहुल चोकसी के खिलाफ पीएनबी के साथ कथित रूप से 13,000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी की जांच कर रहा है। ऐजेंसी



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.