दक्षिण सूडान में बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए भारतीय शांतिरक्षकों की सराहना

Samachar Jagat | Tuesday, 28 Aug 2018 12:34:24 PM
Indian peacekeepers appreciate the improvement in infrastructure in South Sudan

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

संयुक्त राष्ट्र। दक्षिण सूडान में भारतीय शांतिरक्षकों ने लंबे समय से उपेक्षित पड़े मलकाल हवाई अड्डे के पुनर्निमाण का काम करके अपनी जिम्मेदारियों से इतर इलाके में बुनियादी सुविधाओं को मुहैया कराया।

दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (यूएनएमआईएसएस) में काम कर रहे भारतीय शांतिरक्षकों ने क्षतिग्रस्त मलकाल हवाई अड्डे पर पुनर्निर्माण और मरम्मत का कार्य किया।

सिंधु जल संधि ने पानी के उपयोग पर उपजे विवाद को सुलझाने की रूपरेखा तैयार की : संयुक्त राष्ट्र

2013 में जब देश में संघर्ष भड़का था उस समय से रनवे काम नहीं कर रहा है और यहां बड़े गड्ढे हैं। ऐसी परिस्थितियों में शांतिरक्षकों को कई शाम और सप्ताहांत में हवाई अड्डे पर वक्त बिताना पड़ा है।
कमांडिग अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल सुप्रतिम दत्त ने विज्ञप्ति में कहा है, कि यह परियोजना यहां हमारे नियमित काम के दायरे से बहुत दूर है।

इस भोजपुरी सुपरस्टार से पैसे मांगने आई थी ये गरीब महिला, बंधवा ली राखी देखें Video

लेकिन हमने कार्य को हाथ में लिया और आगे बढ़े। हम परिणाम को लेकर बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा कि  वास्तव में उन सभी की सबसे बड़ी चुनौती सड़क (हवाई पट्टी) बनाने की थी क्योंकि यह यहां सामान्य बात नहीं है। दक्षिण सूडान में सड़क की हालत मुख्य रूप से खराब है ऐसे में वायु यातायात पर काफी निर्भरता है।

सुषमा स्वराज ने वियतनाम के भारतीय दूतावास में महात्मा गांधी की आवक्ष प्रतिमा का अनावरण किया

जुबा से करीब 600 किलोमीटर उत्तर में स्थित है मलकाल तक सड़क मार्ग से जाना काफी दुर्गम है। मलकाल हवाई अड्डे के प्रबंधक डेविड गारंग मंगोक ने शांतिरक्षण मिशन के साथ सतत संबंधों की सराहना की जिसने विमानन क्षेत्र के बुनियादी ढांचे के रखरखाव के लिए काफी योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि मैं उनके काम की अच्छी गुणवत्ता, समर्थन और सहयोग की सराहना करता हूं।

रणबीर कपूर से लिंकअप को लेकर आलिया भट्ट के पिता ने कही ये बड़ी बात!

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.