अमेरिकी मोटरसाइकिलों पर भारत का 50 प्रतिशत शुल्क लगाना स्वीकार्य नहीं: ट्रंप

Samachar Jagat | Tuesday, 11 Jun 2019 01:04:51 PM
It is not acceptable to charge 50% of India's bikes on American motorcycles: Trump

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

वाशिंगटन। हार्ले डेविडसन की मोटरसाइकिल पर भारत के उच्च आयात शुल्क लगाने की एक बार फिर आलोचना करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे अस्वीकार्य बताया। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि उनके अच्छे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पर शुल्क को 100 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है।

ट्रंप ने कहा कि अमेरिका वह बैंक है जिसे हर कोई लूटना चाहता है। लेकिन उनके नेतृत्व में अमेरिका ऐसा देश बन रहा है जिसे कोई भी बुद्धू नहीं बना सकता। सीबीएस न्यूज को सोमवार को दिए एक साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा कि हम मूर्ख देश नहीं हैं कि इतना बुरा करें।

आप भारत की ओर देखें कि वह क्या कर चुके हैं। वह एक मोटरसाइकिल पर 100 प्रतिशत कर लेते हैं। हम उनसे कुछ नहीं लेते। ट्रंप का इशारा हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल की ओर था। यह मुद्दा उनके बेहद करीब है। वह चाहते हैं कि भारत इस पर शुल्क को घटाकर शून्य प्रतिशत करे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना अजीज दोस्त बताते हुए ट्रंप ने उनसे हुई बातचीत के संदर्भ में कहा कि हम जब हार्ले वहां भेजते हैं तो वह उस पर 100 प्रतिशत कर लेते हैं। जबकि वह हमें मोटरसाइकिल भेजते हैं तो हम कोई कर नहीं लेते। मैंने उन्हें (मोदी को) कॉल कर कहा कि यह अस्वीकार्य है और उन्होंने एक ही कॉल के बाद इसे घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया।

मैंने कहा कि यह अभी भी अस्वीकार्य है क्योंकि यह अभी 50 प्रतिशत के बदले कुछ नहीं है। यह अस्वीकार्य है और हम इस पर काम कर रहे हैं। उन्होंने संकेत दिया कि दोनों देश अमेरिकी मोटरसाइकिलों पर आयात शुल्क के मुद्दे का समाधान करने के लिए बातचीत कर रहे हैं।

ट्रंप के हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल पर लगाए जाने वाले आयात शुल्क को अनुचित बताने के बाद भारत ने पिछले साल फरवरी में इसे घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया था। ट्रंप इससे पहले भी भारत की आलोचना दुनिया में सबसे अधिक कर लेने वाले देश के रूप में कर चुके हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.