लीबिया ने संयुक्त राष्ट्र की मदद से फंसे सैकड़ों शरणार्थियों को निकाला

Samachar Jagat | Friday, 31 Aug 2018 08:14:54 AM
Libya extends hundreds of refugees stranded with the help of the United Nations

त्रिपोली। लीबिया सरकार ने देश के विभिन्न गुटों के संघर्ष के कारण सरकारी निगरानी केंद्रों में फंसे सैंकड़ों शरणार्थियों को संयुक्त राष्ट्र की मदद से निकालकर किसी अन्य जगह पर स्थानांतरित कर दिया। संयुक्त राष्ट्र और सहायता सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

उत्तर कोरिया पर ट्रंप के 'गैरजिम्मेदाराना और बेतुके तर्क’ की चीन ने की आलोचना 

एक सहायता सूत्र ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र समर्थित सरकार ने राजधानी त्रिपोली के दक्षिण-पूर्वी आइन जारा क्षेत्र के दो केंद्रों से इन शरणार्थियों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया।  संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी यूएनएचसीआर ने अपने बयान में कहा कि उसने अन्य एजेंसियों और अवैध शरणार्थी प्रतिरोधक विभाग के साथ मिलकर इन शरणार्थियों को स्थानांतरित किया है। 

पाकिस्तान विफल पड़ चुके दृष्टिकोण से कश्मीर का मामला उठाता है : भारत 

एक अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठन ने कहा इन शरणार्थियों में मुख्यत: इथोपिया, सोमालिया और इरिट्रिया से हैं। इनको युद्ध क्षेत्र से निकालकर अलग-अलग निगरानी केंद्रों में ले जाया गया है। आइन जारा में कुछ शरणार्थी अभी भी मदद का इंतजार कर रहे हैं। 

सिंधु जल संधि ने पानी के उपयोग पर उपजे विवाद को सुलझाने की रूपरेखा तैयार की : संयुक्त राष्ट्र 

इन शरणार्थियों के रक्षक गुटों के संघर्ष के कारण इनको छोड़कर भाग गए थे जिसके कारण करीब 30 शरणार्थियों की मौत हो गयी थी। लीबिया में वर्ष 2011 में नाटो समर्थित क्रांति से तानाशाह मुअम्मर गद्दाफी के सत्ता से बेदखल किये जाने के बाद यहां विभिन्न गुट सत्ता के लिए संघर्षरत है। 

चीन ने रोहिंग्या मुद्दे के राजनैतिक समाधान की मांग की, कहा-एकतरफा आरोप’ काम नहीं करेगा 

लीबिया के प्रधानमंत्री फयज अल सेराज ने कहा है कि दक्षिणी त्रिपोली में अभी भी संघर्ष जारी है और वहां निवासी अपने घरों में फंसे हुए हैं। विभिन्न अफ्रीकी देशों के शरणार्थियों के लिए लीबिया उत्तरी अफ्रीका से भूमध्य सागर पार करके यूरोप जाने का मुख्य निकासी स्थान है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.