वायु प्रदूषण का कम स्तर भी दिल के लिए नुकसानदायक : अध्ययन

Samachar Jagat | Friday, 03 Aug 2018 03:23:46 PM
Low levels of air pollution are also harmful to the heart: study

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

लंदन। नियमित रूप से वायु प्रदूषण के कम स्तर के संपर्क में आना भी दिल के लिए खतरनाक हो सकता है और यह दिल की गति रुकने के शुरुआती चरण के समान हो सकता है। एक नए अध्ययन में इस बात को लेकर आगाह किया गया है।

कांग्रेस ने सरकार पर मीडिया का गला दबाने का आरोप लगाया, मंत्री ने किया इनकार

लंदन स्थित क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने ब्रिटेन में करीब 4,000 प्रतिभागियों से प्राप्त आंकड़े का अध्ययन कर यह निष्कर्ष निकाला है। यह ब्यौरा ‘सर्कुलेशन’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। आंकड़ा विश्लेषण की अगुवाई करने वाले ने. आंग ने कहा कि वायु प्रदूषण के, अपेक्षाकृत कम स्तर के संपर्क में आने पर भी दिल में अहम बदलाव दिखे।

शोध कार्यकर्ताओं ने प्रतिभागियों की जीवनशैली, स्वास्थ्य रिकॉर्ड और वे कहां रहते हैं इसकी विस्तृत जानकारी समेत उनकी निजी सूचना उपलब्ध कराई। हार्ट एमआरआई (मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग) का इस्तेमाल दिल के आकार, वजन और नियमित अंतराल पर प्रतिभागियों के हृदय की गतिविधि को मापने के लिए किया गया।

तृणमूल कांग्रेस सदस्यों के शोरशराबे की वजह से लोकसभा की कार्यवाही बाधित 

शोर-शराबा, व्यस्त सडक़ों के आस-पास रहने वाले और नाइट्रोजन डाईऑक्साइड (गग्2) या पीएम 2.5 (वायु प्रदूषण के छोटे कणों) के संपर्क में आने वाले लोगों के बीच इसका साफ संबंध देखा गया और इनके दाएं एवं बाएं निलय में बड़ा बदलाव देखा गया।

न्यायालय ने सारदा मामले में नलिनी चिदंबरम के खिलाफ दण्डात्मक कार्रवाई से प्रवर्तन निदेशालय को रोका

निलय हृदय में खून का प्रवाह करने वाले अहम पम्पिंग चैम्बर होते हैं। शोधकर्ताओं ने बताया कि लगभग सभी प्रतिभागी स्वस्थ थे और उनमें दिल की बीमारी से संबंधित कोई लक्षण नहीं थे। उन्होंने कहा कि प्रदूषकों के संपर्क में आना और हृदय के आकार में अहम बदलाव का परस्पर संबंध हैं। वायु प्रदूषण का दिल पर कैसे और क्यों असर पड़ता है, इस बारे में विस्तार से जानने में यह शोध मददगार हो सकता है। एजेंसी

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.