वायु प्रदूषण से मरने वाले लोगों की संख्या दोगुनी हूई: अध्ययन

Samachar Jagat | Tuesday, 12 Mar 2019 05:26:53 PM
Number of people killed by air pollution doubled: study

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

पेरिस। यूरोप में वायु प्रदूषण से हर साल 790,000 लोगों की समय से पूर्व मौत हो गई और दुनियाभर में 88 लाख लोगों की मौत हुई। यह संख्या हाल के आकलन से दोगुनी है। सोमवार को जारी एक अध्ययन के मुताबिक 40 से 80 फीसदी ये मौतें दिल का दौरा, आघात पड़ने और अन्य तरह की दिल की बीमारियों से हुई जो अभी तक धुंध से संबंधित हादसों के मुकाबले कम समझी जाती थी।


भीम आर्मी प्रमुख को देवबंद पुलिस ने किया गिरफ्तार, समर्थकों ने रोकी पुलिस की गाडियां

शोधकर्ताओं के मुताबिक वाहनों, उद्योगों और खेतीबाड़ी के प्रदूषकों के जहरीले मिश्रण ने लोगों की जिदगी 2.2 साल तक कम कर दी है। जर्मनी में यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर मैन्ज के प्रोफ़ेसर थॉमस मुंजेल ने बताया कि इसका मतलब है कि वायु प्रदूषण से एक साल में तंबाकू धूम्रपान के मुकाबले ज्यादा मौतें हुई। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुमान के अनुसार  इसे साल 2015 में 72 लाख मौतें अधिक हुई। धूम्रपान से बचा जा सकता है लेकिन वायु प्रदूषण से नहीं।

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक, बीजेपी-आरएसएस की फासीवादी विचारधारा को हराने का संकल्प लिया

छोटे और बड़े धूल के कणों,नाइट्रोजन डाइऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड और ओजोन के मिश्रण से संज्ञानात्मक प्रदर्शन, श्रम उत्पादकता और शैक्षिक नतीजों में कमी आई। यूरोपियन हार्ट पत्रिका में प्रकाशित नए अध्ययन में यूरोप पर ध्यान केंद्रित किया गया लेकिन दुनिया के बाकी हिस्सों के लिए भी सांख्यिकीय प्रणालियों को भी अपडेट किया गया। शोध के मुख्य लेखक जोस लेलीवेल्ड ने बताय कि चीन में हर साल 28 लाख लोगों की मौत हुई जो मौजूदा आकलन से ढाई गुना अधिक है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.