पाक सेना ने सीनेट अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव विफल करने के आरोपों को खारिज किया

Samachar Jagat | Friday, 02 Aug 2019 05:15:22 PM
Pak army rejects charges against the Senate president

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार को उन आरोपों को खारिज कर दिया कि देश की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) की सीनेट अध्यक्ष सादिक संजरानी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव के विफल होने में किसी तरह की भूमिका थी। 


विपक्षी दलों द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को संजरानी ने गुरुवार को बचा लिया। इसे विपक्षी दलों के लिये बड़ा झटका माना जा रहा है जो अपनी जीत को लेकर आश्वस्त थे।

संयुक्त विपक्ष द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में साधारण बहुमत भी नहीं जुट सका और महज 50 सीनेटरों ने इस प्रस्तावों के पक्ष में मतदान किया। अध्यक्ष को हटाने के लिये तीन मतों की कमी रही। 

यह विपक्ष के लिये बड़े झटके के तौर पर देखा जा रहा है क्योंकि मतदान से महज आधे घंटे पहले सभी 64 विपक्षी सीनेटरों ने संजरानी के खिलाफ प्रस्ताव पर खड़े होकर एकजुटता दिखाई थी।

गुप्त मतदान के दौरान इनमें से 14 ने पाला बदल लिया जिससे पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन), पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी), जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फज्ल (जेयूआई-एफ), नेशनल पार्टी और उनके अन्य सहयोगियों का खासी शॄमदगी का सामना करना पड़ा। 

इस हार पर विपक्षी सीनेटर मीर हासिल खान बीजेंजो ने आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद पर हस्तक्षेप का आरोप लगाया। वह सीनेट की अध्यक्षता के लिये संयुक्त उम्मीदवार थे। 

बीजेंजो से जब पत्रकारों द्वारा पूछा गया कि अलग हुए सीनेटर किसका प्रतिनिधित्व करते हैं, उन्होंने कहा, ल्लवे जनरल फैज के लोग थे- जनरल फैज जो आईएसआई के प्रमुख हैं।

सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने आरोपों को खारिज करने के लिये सोशल मीडिया का सहारा लिया।  गफूर ने ट्वीट किया, ल्लसीनेटर मीर हासिल बीजेंजो द्वारा एक प्रमुख राष्ट्रीय संस्थान के प्रमुख को दोषी ठहराने वाली टिप्पणी निराधार है। 

मामूली राजनीतिक फायदों के लिये समूची लोकतांत्रिक प्रक्रिया की गरिमा को कम करने से लोकतंत्र का मकसद दल नहीं होगा। रक्षा मंत्री परवेज खटक ने भी आईएसआई प्रमुख के खिलाफ टिप्पणी को लेकर बीजेंजो की आलोचना की है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.