पाक उच्चतम न्यायालय का ऐतिहासिक फैसला, आजीवन सियासत नहीं कर सकेंगे शरीफ

Samachar Jagat | Friday, 13 Apr 2018 01:37:16 PM
Pak Supreme Court historic verdict, Sharif will not be able to rule life

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय के शुक्रवार के एक ऐतिहासिक फैसले के बाद देश के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ जीवन भर पर किसी सार्वजनिक पद पर आसीन नहीं हो सकेंगे। ‘ द डॉन ’ की खबर के अनुसार 5 न्यायाधीशों की पीठ ने सर्वमत से अपने फैसले में संविधान के प्रावधानों की व्याख्या करते हुए कहा कि किसी सार्वजनिक पद पर आसीन व्यक्ति को आजीवन के लिए अयोग्य ठहराया जाता है।

कठुआ दुष्कर्म हत्या कांड : पीडि़ता की पहचान जाहिर करने पर मीडिया हाउसों को अदालती नोटिस

संविधान के अनुच्छेद 62 (1)( एफ ) के मुताबिक सार्वजनिक पद पर आसीन व्यक्ति को निश्चित शर्तों के मुताबिक अयोग्य ठहराया जाता है लेकिन अयोग्यता की अवधि तय नहीं की गई है। उल्लेखनीय है कि अनुच्छेद 62 के तहत ही 68 वर्षीय शरीफ को 28 जुलाई , 2017 को पनामा पेपर्स मामले में अयोग्य ठहराया गया था।

कोविंद शनिवार को आएंगे डॉ. अंबेडकर की जन्मस्थली महू

इसके बाद उच्चतम न्यायालय की एक अन्य पीठ ने गत साल 15 दिसंबर को इसी प्रावधान के तहत पाकिस्तान तहरीक- ए-इंसाफ के नेता जहांगीर तरीन को अयोग्य ठहराया था।

न्यायमूर्ति उमर अता बंदियाल के फैसले में कहा गया है कि भविष्य में किसी भी सांसद या लोक सेवक को अगर अनुच्छेद 62 के तहत अयोग्य ठहराया जाता है तो उन पर यह प्रतिबंध स्थायी होगा। ऐसे व्यक्ति चुनाव में हिस्सा नहीं ले सकेंगे और ना ही संसद के सदस्य बन सकेंगे। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.