पाकिस्तान चुनाव आयोग को मतदान में गड़बड़ी के आरोपों पर गौर करना चाहिए : ममनून

Samachar Jagat | Tuesday, 14 Aug 2018 03:59:45 PM
Pakistan EC should look into allegations of polling in poll: Mamunoon

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने स्वतंत्रता दिवस पर देश को संबोधित करते हुए हाल ही में संपन्न हुए चुनावों में गड़बड़ी के आरोपों का मुद्दा उठाते हुए कहा कि चुनाव आयोग को प्रमुख राजनीतिक दलों की शिकायत पर गौर करना चाहिए ताकि चुनाव प्रक्रिया को ''पूरी तरह पारदर्शी’’ बनाया जा सके।

'जिन्ना कन्वेंशन सेंटर’ में आयोजित 72वें स्वतंत्रता दिवस के आधिकारिक समारोह के दौरान हुसैन ने कहा कि देश के लिए राज्य की संस्थाओं को मजबूत और स्वतंत्र बनाना बेहद महत्वपूर्ण है। देश में हाल ही में संपन्न हुए चुनावों में इमरान खान की 'पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ' की जीत पर कई पार्टियों ने सवाल उठाए थे और निष्पक्ष जांच की मांग की थी।

पाकिस्तान के साथ रिश्ते मजबूत करने को लेकर विदेश मंत्री ने कही ये बात!

'पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज’ (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने कल आरोप लगाया था कि 25 जुलाई को हुए चुनावों में ''ऐतिहासिक गड़बड़ी’’ की गई।'पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ' पाकिस्तान की कौमी असेंबली के लिए हुए आम चुनावों में 342 सीटों में से 158 सीटों पर जीत हासिल कर सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी जबकि पीएमएल-एन 82 सीट हासिल कर दूसरे नंबर पर रही।

पीटीआई के प्रमुख इमरान खान 18 अगस्त को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। राष्ट्रपति हुसैन ने कहा कि चुनाव और पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के जश्न का कुछ ही समय के अंतराल में हो रहा है और ''यह हमें याद दिलाता है कि जिस तरह से यह देश जनसंकल्प के साथ अस्तित्व में आया था..वैसे ही, इसके भविष्य का निर्णय भी जनादेश के माध्यम से किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि चुनाव पाकिस्तान के चुनाव आयोग (ईसीपी) को और शक्तिशाली और स्वतंत्र बनाने के लिए पिछली सरकार के दौर में बनाए गए नए कानून के तहत आयोजित किए गए। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए देश एकजुट है और ईसीपी को सशक्त करने के लिए ही पुरानी सरकार के प्रतिनिधियों ने कानून बनाया।

हुसैन ने कहा कि इसे पारदर्शी बनाने के प्रयास के बावजूद अगर कुछ समूहों ने इस मुद्दे पर चिता व्यक्त की है तो यह ईसीपी की जिम्मेदारी है कि उन्हें दूर करे और ऐसे कदम उठाए जिससे मतदाता आश्वस्त हो कि राज्य के मामलों के बारे में उनके निर्णय स्वीकार किए जाएंगे और उनका क्रियान्वयन भी होगा।

नेतन्याहू और अल-सिसी ने गुप्त मुलाकात में की गाजा पर चर्चा

कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के अधीन कश्मीर का मुद्दा हल करने के लिए पाकिस्तान आर्थिक एवं राजनीतिक मदद मुहैया करता रहेगा। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुहार लगाई कि कश्मीर के लोगों को उनके ''बकाया अधिकार’’ दिलाने के लिए वह आवाज उठाए। पाकिस्तान 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाता है।

इस दिन आखिरी ब्रिटिश वाइसराय ने कराची में पाकिस्तान की नई सरकार को सत्ता हस्तांतरित की थी। बहरहाल, स्वतंत्रता का पहला दिन 15 अगस्त होता है। पाकिस्तान ने आज अपने 72वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न धूमधाम से मनाया और देश में जगह जगह समारोह आयोजित किए गए।

दिन की शुरुआत मस्जिदों में नमाज अदा करने और सभी प्रमुख सरकारी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के साथ हुई। सभी प्रमुख सरकारी इमारतों को झंडियों और रोशनी से सजाया गया है। स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने के लिए राजधानी में 31 तोपों की सलामी दी गई। इसके बाद चारों प्रांतीय राजधानियों में 21 तोपों की सलामी दी गई।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.