पल्लवी गोगोई ने कहा अकबर के साथ रिश्ते सहमति से नहीं, कहा सच बोलना जारी रखूंगी

Samachar Jagat | Sunday, 04 Nov 2018 10:49:05 AM
Pallavi Gogoi said that relationship with Akbar is not agreed, but will continue to speak the truth

वाशिंगटन। एमजे अकबर पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली अमेरिका स्थित पत्रकार पल्लवी गोगोई ने पूर्व केंद्रीय मंत्री के उन दावों को खारिज किया है कि यह सहमति से बनाया गया संबंध था और कहा कि ये संबंध 'जबर्दस्ती और शक्ति के दुरुपयोग पर आधारित था न कि सहमति से।

गोगोई का आरोप था कि भारत में दिग्गज पत्रकार अकबर के मातहत काम करने के दौरान उन्होंने उनसे बलात्कार किया। वाशिंगटन स्थित अमेरिकी मीडिया संगठन नेशनल पब्लिक रेडियो (एनपीआर) में मुख्य व्यापार संपादक गोगोई ने ट्विटर पर कहा कि वह वाशिगटन पोस्ट अखबार में उनके हवाले से छापे गए एक-एक शब्द पर अडिग हैं।

उन्होंने कहा कि वह अपना सच बोलना जारी रखेंगी जिससे उसके द्बारा यौन उत्पीड़न का शिकार हुई दूसरी महिलाएं ये समझ जाएं कि उनके लिये सामने आकर अपना सच बयान करने में कोई बुरी बात नहीं है। हाल ही में विदेश राज्य मंत्री के पद से इस्तीफा देने वाले 67 वर्षीय अकबर ने शुक्रवार को गोगोई द्बारा लगाए गए दुष्कर्म के आरोपों से इनकार किया था।

गोगोई ने अपने लेख में अपनी सबसे दर्दनाक यादें लिखते हुए कहा कि वे भावनात्मक, शारीरिक और मानसिक रूप से बिखर गई थीं। एक बयान में अकबर ने कहा कि वर्ष 1994 के आसपास पल्लवी गोगोई और मेरे बीच आपसी सहमति से संबंध बने जो कई महीने तक रहे।

अकबर ने कहा कि (गोगोई के साथ) इस रिश्ते को लेकर बातें होने लगीं और बाद में मेरे घर में भी इस पर कलह हुई। आपसी सहमति से बने इस रिश्ते का अंत हो गया, लेकिन अंत शायद अच्छा नहीं रहा। एक अलग बयान में अकबर की पत्नी मल्लिका अकबर ने भी शुक्रवार को गोगोई के आरोप को झूठ करार दिया था।

मल्लिका ने कहा कि उन्हें अकबर और पल्लवी के बीच संबंधों की जानकारी थी जिनकी वजह से वह नाखुश थीं और उनके परिवार में भी तनाव था। अकबर के दावों में गोगोई ने कहा कि वाशिंगटन पोस्ट में कल एम जे अकबर द्बारा शारीरिक, मौखिक और यौन हमले को लेकर जो लेख छापा वह मेरी आपबीती है।

मेरी उम्र 20 साल के आसपास थी, मैं पत्रकार बनना चाहती थी और उस अखबार की कर्मचारी थी जिसका नेतृत्व वह कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सच को स्वीकार करने के बजाए, अकबर ने जोर दिया कि महिलाओं के यौन दुर्व्यवहार से जुड़े दूसरे मामलों की तरह -यह संबंध आपसी सहमति से था। ऐसा नहीं था।

गोगोई ने एक बयान में कहा कि ऐसा रिश्ता जो जबर्दस्ती और शक्ति के दुरुपयोग पर आधारित हो, आपसी सहमति का नहीं होता। मैं लेख में कहे गए हर शब्द पर अडिग हूं। मैं सच बोलना जारी रखूंगी जिससे उसके द्बारा यौन दुर्व्यवहार का शिकार हुईं दूसरी महिलाओं को भी यह पता चले कि उनके लिए भी सामने आकर सच बोलने में कोई गलत बात नहीं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.