प्रधानमंत्री मोदी ने मंगोलिया के राष्ट्रपति से की मुलाकात

Samachar Jagat | Thursday, 05 Sep 2019 01:57:11 PM
Prime Minister Modi met the President of Mongolia

व्लादिवोस्तोक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगोलिया के राष्ट्रपति खल्टमागीन बाटुल्गा से बृहस्पतिवार को यहां मुलाकात की और दोनों नेताओं ने सांस्कृतिक, आध्यात्मिक एवं लोगों के आपसी संबंधों को मजबूत करने समेत द्विपक्षीय हित के विभिन्न मामलों पर बातचीत की।


loading...

प्रधानमंत्री मोदी ने रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र में यहां आयोजित पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की पांचवीं बैठक के इतर मंगोलिया के राष्ट्रपति से मुलाकात की। मोदी ने ट्वीट किया,‘‘प्रिय आध्यात्मिक मित्र और विकास में साझेदार के साथ बातचीत की।

 मंगोलिया के राष्ट्रपति खल्टमागीन बाटुल्गा के साथ वार्ता की। हमने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की और सहयोग बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की जिनसे दोनों देशों के लोगों को लाभ हो सके।’’ विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया,‘‘आध्यात्मिक एवं ऐतिहासिक मित्र के साथ फिर से जुड़ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति खल्टमागीन बाटुल्गा से ईईएफ 2019 के इतर मुलाकात की। विकास, साझेदारी और द्विपक्षीय सहयोग के अन्य क्षेत्रों पर चर्चा हुई।’’

ईईएफ का आयोजन चार से छह सितंबर तक व्लादिवोस्तोक में किया जा रहा है। विदेश सचिव विजय गोखले ने मीडिया को इस बैठक की जानकारी देते हुए बताया कि दोनों नेताओं के बीच अच्छी बातचीत हुई। उन्होंने बताया कि मंगोलिया के राष्ट्रपति इस महीने के अंत में राजकीय यात्रा पर भारत जाएंगे। मुलाकात के दौरान कई परियोजनाओं पर बातचीत हुई। इस दौरान मंगोलिया में एक बड़ी तेल रिफाइनरी के निर्माण के लिए भारत द्वारा मुहैया कराई जा रही सहायता पर विशेष रूप से बातचीत हुई।

गोखले ने कहा, ‘‘सांस्कृतिक, आध्यात्मिक संबंधों समेत लोगों से जुड़े कई मामलों पर वार्ता हुई। राष्ट्रपति ने मुख्य रूप से कहा कि वह दिल्ली और बेंगलुरु के अलावा बिहार के बोधगया जाने को लेकर उत्सुक हैं।’’ उन्होंने बताया कि मंगोलिया की राजधानी उलानबाटोर में प्रदूषण का स्तर कम करने को लेकर भी बातचीत की गई। मोदी 20वीं भारत-रूस वार्षिक शिखर वार्ता और पूर्वी आर्थिक मंच (ईईएफ) की पांचवीं बैठक में भाग लेने के लिए रूस आए हैं। मोदी को व्लादिवोस्तोक अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा आने पर गार्ड ऑन ऑनर दिया गया।

यह मंच रूस के पूर्वी सुदूर क्षेत्र में कारोबार एवं निवेश अवसरों के विकास पर ध्यान केंद्रित करता है और क्षेत्र में भारत एवं रूस के बीच निकट एवं आपसी लाभकारी सहयोग विकसित करने के लिए अपार संभावनाएं पेश करता है। -(एजेंसी)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!




Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.