रूस से संबंध की जांच में ट्रंप के पूर्व सलाहकार को सजा

Samachar Jagat | Saturday, 08 Sep 2018 04:14:11 PM
Russia former adviser to trumpet in connection with investigations

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के पूर्व सलाहकार को एफबीआई से झूठ बोलने के मामले में शुक्रवार को जेल की सजा दी गई है। उनके रूस से संपर्क की वजह से ही मास्को के साथ संभावित सांठगांठ की जांच शुरू की गई थी।

अमेरिकी जिला न्यायाधीश रैंडोल्फ मॉस ने विदेशी नीति सहायक जॉर्ज पापाडोपौलोस को उनके इकबालिया जुर्म और पछतावे को मानते हुए उन्हें 14 दिन की जेल की सजा सुनाई लेकिन कहा उन्होंने एक ऐसी जांच में झूठ बोला जो देश की सुरक्षा के लिए अहम है।

यूट्यूब ने कैलाश सत्यार्थी के काम पर डॉक्यूमेंट्री के अधिकार हासिल किए

रूस से मिलीभगत को लेकर विशेष अधिवक्ता की जांच में जेल की सजा पाने वाले पापाडोपौलोस दूसरे व्यक्ति हैं। इससे पहले, ट्रंप के पूर्व शीर्ष सहायक को दोषी ठहराया गया था। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि ये दोषसिद्धियां उस जांच के लिए कुछ भी नहीं है जिसपर लाख डॉलर का खर्च आया है।

उन्होंने इस बात पर ध्यान नहीं दिया है 35 लोगों को आरोपित किया गया है जबकि 5 ने इकबाल-ए-जुर्म किया है और एक को केस चलाकर दोषी करार दिया गया है। ट्रंप ने ट्वीट किया,  2.8 करोड़ डॉलर के बदले 14 दिन यानी 20 लाख डॉलर प्रतिदिन।

कोई साठगांठ नहीं है। अमेरिका के लिए एक बड़ा दिन। सीनेटर मार्क वार्नर ने मूलर के काम की सराहना की है। वार्नर सीनेट की खुफिया समिति में डेमोक्रेटिक पार्टी के वरिष्ठ सदस्य हैं। इसने भी रूस के साथ साठगांठ की जांच की थी। वार्नर ने एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति की ओर से लगातर हमलों के बावजूद मूलर और उनकी टीम ने 2016 में ट्रंप के प्रचार अभियान की रूस के साथ संपर्क की गंभीर और पेशेवर जांच की है।

पापाडोपौलोस (31) लंदन के एक अनुभवहीन तेल विशेषज्ञ हैं। वे मार्च 2016 में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार ट्रंप के प्रचार अभियान में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड में शामिल हुए थे। पापाडोपौलोस ने वाशिंगटन की अदालत में कहा कि जनवरी 2017 में मैंने एक गलती की थी जिसकी कीमत मैंने चुकाई है।

चीन नेपाल को देगा 4 बंदरगाहों के यूज की इजाजत

मैं शर्मिदा हूं। उनके वकील टॉम ब्रीन ने कहा कि इस जांच को अमेरिका के राष्ट्रपति ने जॉर्ज पापाडोपौलोस से कहीं ज्यादा अवरूद्ध किया है। संघीय न्यायाधीश मॉस ने उनके पछतावे पर विचार करते हुए पापाडोपौलोस को हल्की सजा दी, जिसमें 9500 अमेरिकी डॉलर का जुर्माना, एक वर्ष पेरोल और सामुदायिक सेवा शामिल है।

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.