श्रीलंका में रिहा हो सकते हैं तमिल कैदी

Samachar Jagat | Sunday, 04 Nov 2018 05:28:30 PM
Tamil prisoners may be released in Sri Lanka

कोलम्बो। श्रीलंका के नवनियुक्त प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के सांसद पुत्र नमल ने रविवार को इशारा किया कि जेलों में बंद तमिल समुदाय के लोगों को रिहा करने की इस अल्पसंख्यक समुदाय की पुरानी मांग को जल्द पूरा किया जा सकता है।

'ठग्स ऑफ हिन्दोस्तान' में अपनी आवाज का जलवा बिखेरेंगे अमिताभ, अपने ही घर पर रिकॉर्ड किया फिल्म का गाना

इसे तमिल सांसदों का समर्थन पाने के कदम के तौर पर देखा जा रहा है। नमल ने तमिल भाषा में ट्वीट किया, राष्ट्रपति (मैत्रीपाला सिरिसेना) और प्रधानमंत्री राजपक्षे जल्दी ही फैसला (इस बारे में) करेंगे।

उल्लेखनीय है कि लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) के साथ 2009 में समाप्त हुए युद्ध के बाद से ही श्रीलंका सरकार ने इस आरोपों से इनकार किया है कि जेल में बंद लिट्टे सदस्य, राजनीतिक बंदी हैं। 
तमिल समुदाय का आरोप है कि कई लोग लंबे समय से आतंकवाद निरोधी कानून के तहत जेल में बंद हैं और उनपर औपचारिक रूप से कोई आरोप नहीं लगाया गया है।

रिलीज से पहले विवादों में फंसी सारा अली खान की डेब्यू फिल्म केदारनाथ, ये है पूरा मामला

समझा जा रहा है कि नमल का यह बयान श्रीलंका में मुख्य तमिल पार्टी - तमिल नेशनल एलायंस को लुभाने के लिए है ताकि संसद में राजपक्षे विश्वासमत हासिल कर सकें।

कुल 225 सदस्यों वाली श्रीलंका की संसद में अबतक राजपक्षे के पाले में 100 सांसद माने जा रहे हैं जबकि बर्खास्त हो चुके प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिघे के पास 103 सांसद का समर्थन है। शेष 22 सांसदों में कई राजपक्षे के विरोध में है। इनमें से कई एलायंस के सांसद हैं। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.