ब्रिटेन से अपनी पूर्व प्रधानमंत्री का प्रत्यर्पण चाहता है थाईलैंड

Samachar Jagat | Thursday, 02 Aug 2018 03:14:13 PM
Thailand wants extradition of its former prime minister from Thailand

बैंकॉक। थाईलैंड का जुंटा शासन ब्रिटेन से अपनी पूर्व नेता यिंगलक शिनवात्रा का प्रत्यर्पण चाहता है। हाल में थाईलैंड ने ब्रिटेन से प्रत्यर्पण का अनुरोध किया है। बहरहाल जुंटा शासन के इस कदम को ‘राजनीतिक’ बताकर इसकी आलोचना की गई है।

यिंगलक के नेतृत्व वाली चुनी हुई सरकार को वर्ष 2014 में तख्तापलट कर हटा दिया गया था। अपनी सरकार की नाकाम चावल नीति को लेकर आरोप लगने के बाद अगस्त 2017 में वे देश छोडक़र चली गई। उनकी अनुपस्थिति में एक माह बाद योजना में भ्रष्टाचार रोकने में नाकाम रहने के आरोप में उन्हें 5 वर्ष जेल की सजा सुनाई गई।

उनके समर्थकों ने इस मामले की निंदा की और आरोप लगाया कि यह पूर्व प्रधानमंत्री के परिवार को राजनीति से दूर रखने के जुंटा शासन के प्रयास के तहत किया गया। रिपोर्ट में उनके दुबई में और फिर लंदन में होने की बात कही गयी। ऐसी अफवाहें हैं कि उन्होंने ब्रिटेन में शरण ले रखी है।

उनके जापान, सिंगापुर और चीन में होने से संबंधित तस्वीरें भी सोशल मीडिया एवं स्थानीय रिपोर्टों में छायी रहीं। लंदन में थाई दूतावास ने जो पत्र भेजा है उसकी एक प्रति आज एएफपी को मिली है। पत्र के मुताबिक इसलिए सरकार बतौर थाई नागरिक यिंगलक शिनवात्रा के प्रत्यर्पण का अनुरोध करती है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि वह ब्रिटेन में रह रही हैं।

फिल्म पलटन से सभी किरदारों के लुक सामने आऩे के बाद कल रिलीज किया जाएगा ट्रेलर

थाईलैंड की सरकार के साथ ब्रिटेन की प्रत्यर्पण संधि है। बहरहाल ब्रिटेन की ओर से किसी व्यक्ति के आव्रजन दर्जे पर कोई टिप्पणी नहीं की गई। हालांकि उनकी पार्टी फू थाई ने कहा कि 5 जुलाई को उनके प्रत्यर्पण के अनुरोध के लिए लिखा गया पत्र प्रामाणिक है। पार्टी का नेतृत्व औपचारिक रूप से यिंगलक करती हैं। पार्टी ने आरोप लगाया कि शुरु से ही यह पूरी तरह से राजनीतिक है।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.