ट्रंप प्रशासन ने भारत के साथ के संबंधों को नजर अंदाज किया: पूर्व अमेरिकी राजनयिक

Samachar Jagat | Wednesday, 05 Sep 2018 11:03:09 AM
Trump Administration observed ties with India: Former American diplomats

वाशिंगटन। अमेरिका और भारत के बीच कल नयी दिल्ली में होने वाली महत्वपूर्ण टू प्लस टू बैठक से पहले अमेरिका के एक पूर्व राजनयिक ने आरोप लगाया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने पूर्ववर्तियों जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा के उलट इंडिया के साथ देश के महत्वपूर्ण संबंधों को नजरअंदाज किया है।

ये वार्ता पहले वाशिगटन में 6 जुलाई को होने वाली थी, जिसे अमेरिका ने 27 जून को 'अपरिहार्य कारणों’ का हवाला देते हुए टाल दिया था। पूर्व में इंडिया में अमेरिका के राजदूत रह चुके टीम रोयमर ने फॉरेन पॉलिसी मैगजीन में मंगलवार को एक संपादकीय स्तंभ में लिखा, '' दोनों देशों का भविष्य बेहद उज्ज्वल है लेकिन अमेरिका को इस संबंध को पूर्ण प्राथमिकता देते हुए इस पर आगे बढ़ना चाहिए।

बुल्गारिया पहुंचे राष्ट्रपति कोविद, भारतीय समुदाय को संबोधित किया

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रक्षा मंत्री जिम मैटिस की दिल्ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ कल बैठक होने वाली है। दोनों देशों के बीच यह पहली टू प्लस टू वार्ता है।

ओबामा प्रशासन के समय भारत में शीर्ष राजनयिक रहे रोयमर ने कहा कि इसी से पता चलता है कि ट्रंप प्रशासन ने भारत के साथ महत्वपूर्ण संबंधों को कम प्राथमिकता दी क्योंकि यह तेजी से आगे नहीं बढ़ रहा है। यह दोनों पक्षों के लिए अत्यंत लाभकारी है।

उन्होंने लेख में लिखा है, '' वाशिंगटन में ये साझेदारी थम गई है लेकिन नई दिल्ली में इसे अब भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। अमेरिका के साथ संबंध प्रगाढ़ बनाने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राजनीतिक और विदेश नीति से जुड़ी रूचि स्पष्ट है।

व्हाइट हाउस ने बॉब वुडवर्ड की किताब को '' गढ़ी हुई कहानियां ’’ बताया

पूर्व राजनयिक ने कहा कि मोदी ने डोकलाम में चीन के साथ हाल में उत्पन्न तनाव और रूस के साथ हथियारों की खरीद के बीच अपने भौगोलिक पड़ोस में अपने संबंधों में संतुलन बनाया है। वहीं दूसरी ओर मोदी अमेरिका के साथ उज्जवल भविष्य देखते हैं।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.