ट्रंप, किम का समझौता बना चीन की परेशानी का सबब 

Samachar Jagat | Thursday, 14 Jun 2018 11:14:50 AM
Trump, Kim compromises China's trouble

सिंगापुर। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और उत्तरी कोरिया के चेयरमैन किम जोंग-उन की मुलाकात सिंगापुर में हुई। इसमें मुख्य बात यह निकल कर आई है कि किम जोंग ने पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण करने पर सहमति जता दी है। इसके साथ ही अमेरिका के राष्ट्रपति टंप ने किम को सुरक्षा की गारंटी प्रदान की है। यह मुलाकात चीन की परेशानी का सबब बनी हुई है।

अमेरिका ने भारत को ये खास हेलीकॉप्टर बेचने को दी मंजूदी, ये है खास खूबिया

क्योंकि हमेशा चीन उत्तरी कोरिया को साथ रखकर एशिया में दबदबा बनाए हुए था। चीन को यह दर्द सता रहा है कि किम जोंग -उन का पाला बदलकर चीन से हमेशा के लिए किनारा नहीं कर लें। यह एशिया महाद्वीप के लिए बहुत बड़ी घटना साबित होगी। क्योंकि अभी उत्तरी कोरिया चीन पर ही पूरे तरीके से निर्भर रहता है।

पाकिस्तान के साथ फ्लैग मीटिंग में भारत ने जताया विरोध

चीन यह भी जानता है कि संयुक्त राज्य अमेरिका अपने आप को विश्व में सर्वेसर्वा बनाए रखने के लिए उत्तरी कोरिया को बहुत कुछ आर्थिक सहायता कर सकता है। चीन का एशिया और विश्व में बढ़ते हुए प्रभाव को रोकने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप कुछ भी करने को तैयार है।

क्येांकि वह जानता है अमेरिका के बाजार में भी लोगों को चीन के बनाए खिलौने बहुत पसंद हैं। इसने अमेरिका के मार्केट पर कब्जा कर रखा है। ट्रंप कई बार अपना गुस्सा व्यक्त कर चुके हैं कि चीन अपने उत्पादित वस्तुओं के बदौलत पूरे विश्व की अर्थव्यवस्था को चौपट करने पर तुला हुआ है।अमेरिका अब जानता है कि भारत भी दुनिया में शक्ति बनकर उभर रहा है।

वह यह भी जानता है कि चीन को दबाव बनाए रखने के लिए भारत का सहयोग बहुत आवश्यक है। भारत भी परमाणु शक्तिशाली देश है और चीन से युद्ध होता है ऐसी स्थिति में वह भारत की भूमि का युद्ध के लिए उपयोग किया जा सकता है। 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.