World earth day: आओ आज सब मिलकर प्रण लें, पृथ्वी को बचाना है, ग्लोबल वॉर्मिंग को हटाना है

Samachar Jagat | Monday, 22 Apr 2019 01:58:05 PM
Why is celebrated World earth day

इंटरनेट डेस्क। पृथ्वी को कई तरह के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए पृथ्वी दिवस मनाने की परंपरा प्रारंभ की गई और सबसे पहले 22 अप्रैल 1970 को अर्थ डे यानि पृथ्वी दिवस मनाया गया। पूरी दुनिया में इस दिन पृथ्वी दिवस मनाया जाता है। पृथ्वी दिवस पर लोगों को पृथ्वी का संरक्षण करने का संदेश दिया जाता है जिससे इसका तापमान स्थिर रहे और लोगों को प्रकृति के असंतुलन का सामना न करना पड़े। इतने प्रयास करने के बाद भी प्रकृति का खतरा जस का तस बना हुआ है और ग्लोबल वार्मिंग का खतरा बढ़ता जा रहा है। 

Rawat Public School

इस शहर में है भूतों का बसेरा, यहां के अजीबो-गरीब माहौल को देखकर लोग रह जाते हैं दंग

ग्लोबल वार्मिंग के चलते पृथ्वी का तापमान लगातार बढ़ता जा रहा है और ये गर्म होती जा रही है। आपको बता दें कि धरती के तापमान में लगातार हो रही वृद्धि को ग्लोबल वॉर्मिंग कहा जाता है। ग्लोबल वॉर्मिंग का सबसे बड़ा कारण प्रकृति से छेडछाड़ है लोग अपने स्वार्थ के लिए पेड़ों को काटते जा रहे हैं, कल कारखानों का धुआं पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहा है और वाहनों की बढ़ती संख्या से पर्यावरण दुषित हो रहा है। पृथ्वी इस प्रदूषण को झेलने में नाकामयाब हो रही है और इसी वजह से ग्लोबल वॉर्मिंग का खतरा बढ़ता जा रहा है। 

बड़ा अनोखा है बिना दरवाजे वाला ये कमरा, रहने के लिए चुकाने पड़ते हैं 50 हजार से ज्यादा रूपए

अगर इस समस्या को जल्दी दूर नहीं किया गया तो आने वाले समय में लोगों को कई प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ेगा। पृथ्वी को इन दुष्प्रभावों से बचाने के लिए सभी को मिलकर प्रयास करने होंगे और पृथ्वी दिवस के अवसर पर हर व्यक्ति को ये प्रण लेना होगा कि वो पूरे साल प्रकृति को किसी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचाएगा और ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाएगा। 

दुबई की इस बस को देखने के लिए दूर-दूर से आते हैं लोग, जानिए क्या है खासियत



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.