‘समाज को आज नैतिक शिक्षा की दरकार

Samachar Jagat | Tuesday, 15 May 2018 03:47:07 PM
'Society needs moral education today

अजमेर। महाअतिशयकारी ज्ञानोदय तीर्थ क्षेत्र नारेली में परम पूज्य मुनि पुंगव सुधासागर महाराज जी ने धर्म सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि पथ भ्रमित हो चुके समाज को आज संस्कार, चरित्र से ज्यादा नैतिक शिक्षा की जरुरत है। दरअसल व्यक्ति का भोजन ही नहीं विचार भी तामसिक हो चुके है जिससे उसके दिलों दिमाग में सिर्फ अपना स्वार्थ छाया रहता है। लिहाजा आज मंदिर नहीं बल्कि विचारों के जीर्णोद्वार की जरुरत है। आज मनुष्य के विचारों में आ रहे बदलाव में सुधार की आवश्यकता है।

हमारा भोजन ही नहीं विचार भी तामसिक हो गए है। हमारी प्रार्थना भी तामसिक हो चुकी है। हम भगवान से केवल अपने और परिजनों का ही सुख चाहते है। दुनिया के बारे में कभी भला नहीं मांगते। लोगों में करुणा का भाव कम होता जा रहा है। मानवीय संवेदनाएं कम हो चुकी है। जब हम एक दूसरे के दुख दर्द को समझेंगे तभी अमन चैन की परिकल्पना को साकार कर सकते है। सभी का प्रयास यही होना चाहिये कि कभी किसी चीज में अधिक मोह नहीं करना चाहिये। तन के प्रति मोह नहीं करना चाहिये, सत्ता का मोह नहीं करना चाहिये। कोई भी व्यक्ति किसी भी पद पर स्थिर रुप से नहीं रहता।

अरे सुधारक जगत की मत कर चिन्ता यार
मेरा ही मन जगत है पहले इसे सुधार॥

यह जानकारी देते हुए विनीत कुमार जैन ने बताया कि मंगलवार को प्रात: 7:00 बजे विघ्नहर श्री 1008 मुनि सुव्रतनाथ भगवान के अभिषेक एवं शांतिधारा तत्पश्चात् परम पूज्य पुगंव सुधा सागर जी महाराज के प्रवचन प्रात: 8:30 बजे ज्ञानोदय तीर्थ क्षेत्र नारेली स्थित प्रवचन पण्डाल में होगे इसके पश्चात् 10:30 बजे मुनि श्री की आहारचर्या, 12:00 बजे सामायिक व सांय 5:30 बजे महाआरती एवं जिज्ञासा समाधान का कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा।



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.