लगभग दो हजार साल पहले ईस्टर डे के दिन हुआ था ईसा मसीह का पुन:जन्म

Samachar Jagat | Sunday, 21 Apr 2019 12:33:46 PM
About two thousand years ago on Easter Day  isa masih was born again

धर्म डेस्क। आज से लगभग दो हजार साल पहले ईसाई धर्म के प्रवर्तक ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया। बाइबिल के अनुसार इस दिन फ्राइडे था और तभी से इस दिन को ईसा मसीह की याद में गुड फ्राइडे के रूप में मनाया जाने लगा। जब ईसा को क्रूस पर लटकाया गया उससे पहले उन्हें अनेक तरह की अमानवीय यातनाएं दी गईं, उनके सिर पर कांटों का ताज रखा गया, क्रूस को अपने कंधे पर उठाकर ले जाने के लिए बाध्य किया गया।

Rawat Public School

अगर आप धन का संचय करना चाहते हैं तो इन वास्तु टिप्स को करें फॉलो

यहां तक की उन्हें कोड़े और चाबुक भी मारे गए और अंत में उन्हें दो अपराधियों के साथ सूली पर बेरहमी से कीलों से ठोक दिया गया। ईसाई धार्मिक ग्रन्थ के अनुसार, सूली पर लटकाए जाने के तीसरे दिन यानि रविवार को ईसा मसीह पुनर्जीवित हो गए थे और इसी उपलक्ष्य में ईस्टर डे मनाया जाता है। ईस्टर को चर्च के वर्ष का काल या ईस्टर काल या द ईस्टर सीज़न भी कहा जाता है।

इन राशि के जातकों के जीवन में उथल-पुथल करने आ रहा है अप्रैल माह का चौथा सप्ताह

परंपरागत रूप से ईस्टर काल चालीस दिनों का होता है। ये ईस्टर दिवस से लेकर स्वर्गारोहण दिवस तक होता आया है लेकिन आधिकारिक तौर पर अब ये पंचाशती तक पचास दिनों का होता है। ईस्टर सीज़न या ईस्टर काल के पहले सप्ताह को ईस्टर सप्ताह या ईस्टर अष्टक या ओक्टेव ऑफ़ ईस्टर कहते हैं। ईस्टर काल में उपवास, प्रार्थना और प्रायश्चित का काल माना जाता है। 

बहुत जल्दी लोगों के दिलों में जगह बना लेती हैं इस राशि की लड़कियां, हर चुनौती का सामना करने के लिए रहती हैं तैयार



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.