इस तंत्र विधा से करते हैं अघोरी दूसरों के दिमाग को अपने काबू में

Samachar Jagat | Tuesday, 05 Dec 2017 09:44:18 AM
Aghori manages the brains of others to control this system

धर्म डेस्क। काले जादू का नाम आते ही इंसान के मन में एक भय व्याप्त हो जाता है। कोई नहीं जानता काले जादू की रहस्यमयी दुनिया कैसी है और क्या वाकई में काला जादू प्रभावशाली होता है या नहीं। ऐसे कई सवाल है जिनका जवाब हम हमेशा खोजते रहते हैं, आइए आपको बताते हैं काले जादू की ताकत के बारे में.......

नई जॉब की तलाश है तो अपनाएं ये वास्तु टिप्स

इंसान के दिमाग में काफी ज्यादा शक्ति होती है लेकिन आम इंसान इनका प्रयोग नहीं कर पाता है। काला जादू जो लोग सीखना शुरू करते हैं वह लोग अपने दिमाग के साथ खेलते हैं। कैसे खुद को बिना शरीर के एक स्थान से दूसरे स्थान पर लेकर जाना है और कैसे दूसरों के दिमाग को काबू में करना है, यह सब काला जादू सिखाता है।

कहीं आपकी परेशानियों का कारण आपके घर का मेन गेट तो नहीं

असल में काला जादू पूरी तरह से तंत्र-मंत्र पर आधारित है, सालों की मेहनत के बाद हमारे पूर्वजों ने ऐसे मंत्रों को खोजा है जो सजीव हैं और जीवित हैं। एक मंत्र ही काला जादू है, जब तांत्रिक मंत्र पढ़ता है तो वह अपने दिमाग को निर्देश दे रहा होता है। उसके दिमाग से निकलने वाली एनर्जी सामने वाले के दिमाग को वश में करती है।

जो व्यक्ति 16 वर्षों तक करता है ये व्रत, वह किसी भी जन्म में नहीं बनता निर्धन

इस राक्षस की वजह से यहां पर मिलता है पितरों को मोक्ष!

अब अगर सामने वाला भी उसी एनर्जी का है तो वह शक्ति उसको वश में नहीं करती है, तो अब आपको समझ आ रहा होगा कि काला जादू कैसे सिर्फ और सिर्फ एनर्जी का खेल है। अघोरी संप्रदाय के लोग अलग-अलग तरह की शक्तियों को अपने वश में रखते हैं। इसके लिए अघोरी अपनी शक्तियों को जगाते हैं और वह इतने शक्तिशाली बन जाते हैं कि वह अपने दिमाग से अजीब-अजीब काम कराते हैं और आप-हम उसे भूत समझ लेते हैं।

(SOURCE-GOOGLE)

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

शाम ढलने के बाद इस मंदिर में रुकना है सख्त मना



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2017 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.