इस विधि से करें गुरूवार का व्रत, पूरे दिन करें इन नियमों का पालन

Samachar Jagat | Thursday, 12 Jul 2018 07:00:01 AM
By this method, please fast on Thursday, Follow these rules throughout the day

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। जिन लोगों की कुंडली में गुरू ग्रह कमजोर होता है उन्हें गुरूवार के दिन व्रत करने से लाभ होता है। कुछ लोग गुरूवार के दिन व्रत करते हैं और भगवान विष्णु की पूजा करते हैं। व्रत करने के साथ ही इस दिन केले के पेड़ की पूजा की जाती है। ये माना जाता है कि जो व्यक्ति गुरूवार का व्रत करता है उस पर भगवान विष्णु की कृपा हमेशा बनी रहती है। भगवान विष्णु की कृपा होने से घर में कभी धन-संपदा की कमी नहीं रहती है। जिस घर में भगवान विष्णु की कृपा दृष्टि रहती है उस घर से लक्ष्मी कभी दूर नहीं जाती है। गुरूवार के दिन भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए किए गए उपायों से शीघ्र फल की प्राप्ति होती है।

भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए करें ये उपाय...

गुरूवार के दिन पीली वस्तुओं का बहुत महत्व होता है, इस दिन सुबह उठकर भगवान विष्णु का ध्यान कर व्रत का संकल्प करें और इसके बाद फल, फूल, पीले वस्त्रों से भगवान विष्णु की पूजा करें।

गुरूवार के दिन केले के पेड़ के पास एक चौकी पर पीला कपड़ा बिछाकर उस पर भगवान विष्णु की प्रतिमा रखें और धूप-दीप जलाकर चने की दाल से भगवान की पूजा करें। इसके साथ ही पूजा के समय सत्यनारायण भगवान की कथा सुनें।

पूजा में प्रसाद के रूप में केले रखें लेकिन आप केले के इस प्रसाद को ग्रहण न करें, किसी छोटी कन्या को ये केला भेंट कर दें।

गुरूवार के व्रत में नमक का सेवन नहीं करना चाहिए, आप किसी पीली वस्तु से व्रत खोलें, जैसे बेसन के लड्डू आदि। 

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

बड़े काम की हैं वास्तु पर आधारित ये छोटी-छोटी बातें, घर से तनाव और परेशानियों को रखती हैं दूर

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...


Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.