श्रावण मास में इन मंत्रों का जाप करने से भोलेनाथ होते हैं प्रसन्न

Samachar Jagat | Friday, 03 Aug 2018 09:43:44 AM
Chanting of these mantras in the month of Shravan, Bholenath is delighted

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। हिंदू धर्म शास्त्रों के अनुसार भगवान शिव सांसारिक पीड़ा का शमन करने वाले माने गए हैं। जो व्यक्ति सावन माह में भगवान शिव की भक्ति में लीन रहता है उसे कभी भी मृत्यु या सांसारिक पीड़ाओं का भय नहीं सताता है। श्रावण मास में भगवान शिव की पूजा और उनके कुछ खास मंत्रों का जाप करना बहुत ही लाभदायक होता है। अगर पूरी श्रद्धा से भोलेनाथ को प्रिय इन खास मंत्रों का जाप किया जाए तो इससे वे जल्दी ही प्रसन्न होते हैं और भक्त की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। आइए जानते हैं इन मंत्रों के बारे में .......

महामृत्युंजय मंत्र :-

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्
उर्वारुकमिव बन्धनानत् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥

19 साल बाद श्रावण मास में बन रहा है ये विशेष संयोग

मंत्र :-

ॐ हौं जूं स: ॐ भूर्भुवः स्वः

ॐ त्र्यम्बकम् यजामहे सुगन्धिम्पुष्टिवर्धनम्।

उर्वारुकमिव बन्धनात् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात।।

ॐ स्वः भुवः भूः ॐ सः जूं हौं ॐ

If you want to fulfill the desire, then give it to Bholenath in the Sawan Month

मनोवांछित फल प्राप्त करने के लिए मंत्र :-

नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय:॥

मंदाकिनी सलिल चंदन चर्चिताय नंदीश्वर प्रमथनाथ महेश्वराय
मंदारपुष्प बहुपुष्प सुपूजिताय तस्मे म काराय नम: शिवाय:॥

अगर व्यक्ति के हाथ की ये रेखा पहुंचती है भाग्य रेखा तक तो वह बनता है धनवान

शिवाय गौरी वदनाब्जवृंद सूर्याय दक्षाध्वरनाशकाय
श्री नीलकंठाय वृषभद्धजाय तस्मै शि काराय नम: शिवाय:॥

अवन्तिकायां विहितावतारं मुक्तिप्रदानाय च सज्जनानाम्।
अकालमृत्यो: परिरक्षणार्थं वन्दे महाकालमहासुरेशम्।।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए मंत्र :-

सौराष्ट्रदेशे विशदेऽतिरम्ये ज्योतिर्मयं चन्द्रकलावतंसम्।
भक्तिप्रदानाय कृपावतीर्णं तं सोमनाथं शरणं प्रपद्ये ।।
कावेरिकानर्मदयो: पवित्रे समागमे सज्जनतारणाय।
सदैव मान्धातृपुरे वसन्तमोंकारमीशं शिवमेकमीडे।।

मंत्र :-

ॐ वरुणस्योत्तम्भनमसि वरुणस्य सकम्भ सर्ज्जनीस्थो |
वरुणस्य ऋतसदन्यसि वरुणस्य ऋतसदनमसि वरुणस्य ऋतसदनमासीद् ||

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

अगर आप भी चाहते हैं कि आपका नया प्लॉट वास्तुदोष से मुक्त हो तो इन चीजों का रखें ध्यान

अगर चाहते हैं कि माता लक्ष्मी आप पर रहें मेहरबान तो इस तरह से अपनी झाडू का रखें ध्यान

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.