पूरे श्रद्धा और उत्साह के साथ गणेशोत्सव हुआ प्रारंभ, 23 सितंबर को होगा समापन

Samachar Jagat | Friday, 14 Sep 2018 02:09:51 PM
Ganesh Festival begins in Maharashtra, concludes on 23rd September

मुंबई। सभी मांगलिक कार्यों की शुरुआत भगवान श्री गणपति जी के पूजन से किए जाने पर समस्त काम उनकी कृपा से निर्विघ्न पूरे हो जाते हैं। इसी कारण लोग पूरी श्रद्धा से गणेश चतुर्थी पर्व मानते हैं। गणेश चतुर्थी को विनायक चतुर्थी भी कहा जाता है और इसे भगवान गणेश के जन्मदिन के रूप में देशभर में मनाया जाता है। हिंदू पौराणिक कथाओं के मुताबिक मोदक भगवान गणेश का प्रिय मिष्ठान है इसलिए गणपति को 21 मोदक का भोग लगा कर इसे प्रसाद स्वरूप लोगों में बांटा जाता है। दस दिन तक चलने वाला गणेशोत्सव पर्व पूरे महाराष्ट्र में श्रद्धा और उत्साह के साथ गुरुवार से शुरू हो गया। 

रंग-बिरंगे पारंपरिक परिधानों में सजे श्रद्धालु गणपति की प्रतिमा अपने घर और पंडालों में लेकर आए और ड्रम की धुन और 'गणपति बप्पा मोरया’ के जयकारों के बीच उन्हें स्थापित किया। इस अवसर पर श्रद्धालुओं ने गुलाल उड़ा कर खुशी का इजहार किया। मुंबई, पुणे, नासिक और नागपुर सहित राज्य के सभी प्रमुख शहरों और कस्बों में बेहद खूबसूरत पंड़ाल लगाए गए हैं। इन पंडालों में भगवान गणेश की बड़ी - बड़ी प्रतिमाएं स्थापित की गयी हैं। वहीं गुजरात में गुरुवार को भक्तों ने घरों में धूमधाम से भगवान गणेश की स्थापना की।

Ganesh Chaturthi Special: These solutions to solve various problems today

अनंत चतुर्दशी तक दिन रात वातावरण में एक, दो, तीन, चार, गणपति नो जय जयकार, (गणपति का जय जयकार) गणपति बप्पा मोरया, गणपति आयो बाप्पा-गणपति आयो, रिद्धि-सिद्धि लायो बाप्पा रिद्धि-सिद्धि लायो, गजानन आयो-रिद्धि सिद्धि लायो, की ध्वनि गुंजायमान रहेगी। इस बार बाजार में गणेश की मिट्टी की मूर्तियां भी बिकीं। लोगों ने अपने-अपने घरों पर भी मिट्टी से गणेश जी की प्रतिमाएं स्थापना करने के लिए बनायीं। दस दिवसीय यह महोत्सव इस बार ग्यारह दिन श्रद्धा और उत्साह पूर्वक पूरे राज्य में अनन्त चतुर्दशी 23 सितंबर तक चलेगा। अनंत चतुर्दशी को गाते-बजाते भक्त गणेश मूर्तियों को नदी, सरोवर, तालाब या समुद्र में विसर्जित करेंगे और इसके साथ ही महोत्सव का समापन होगा। -एजेंसी 



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.