धनवान बनना चाहते हैं तो वास्तु शास्त्र के इन टिप्स को करें फोलो

Samachar Jagat | Thursday, 15 Feb 2018 10:25:29 AM
If you want to be rich, then follow these tips of Vastu Shastra.
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the lend of Sun, Send and adventures

धर्म डेस्क। कई बार ऐसा होता है कि आप धन कमाते तो बहुत हैं लेकिन बचत नहीं कर पाते हैं। धनवान बनने के लिए धन कमाने के साथ ही धन बचाना भी जरूरी है। अगर घर में किसी प्रकार का वास्तुदोष हो तो भी धन संचय नहीं हो पाता है। वास्तुशास्त्र में कुछ ऐसे उपाए बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर आप धन का संचय कर सकते हैं। चलिए आपको बताते हैं इन उपायों के बारे में.....

इस राक्षस की वजह से यहां पर मिलता है पितरों को मोक्ष!

वास्तुशास्त्र के अनुसार जल की निकासी कई चीजों को प्रभावित करती है। जिनके घर में जल की निकासी दक्षिण अथवा पश्चिम दिशा में होती है उन्हें आर्थिक समस्याओं के साथ अन्य कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ध्यान रखें कि उत्तर दिशा एवं पूर्व दिशा में जल की निकासी को आर्थिक दृष्टि से शुभ माना गया है।

आज भी अनसुलझे हैं तिरुपति बालाजी मंदिर के ये रहस्य

नल से पानी का टपकते रहना वास्तुशास्त्र में आर्थिक नुकसान का बड़ा कारण माना गया है। बहुत से लोग इसे अनदेखा कर जाते हैं। वास्तु के अनुसार नल से पानी का टपकते रहना धीरे- धीरे धन खर्च होने का संकेत देता है। अगर नल से पानी टपक रहा हो तो उसे तुरंत ठीक करवा लें। अगर आपका शयनकक्ष प्रवेश द्वार के सामने वाली दीवार के बाएं कोने पर है तो वहां धातु की कोई चीज लटकाकर रख सकते हैं।

शिव का अंश ही था उनका सबसे बड़ा दुश्मन

वास्तुशास्त्र के अनुसार यह स्थान भाग्य और संपत्ति का क्षेत्र माना जाता है। धन में वृद्धि और बचत के लिए तिजोरी अथवा धन रखने की अलमारी को दक्षिण की दीवार के पास कुछ इस तरह रखें कि इसका मुंह उत्तर दिशा की ओर रहे। पूर्व दिशा की ओर अलमारी का मुंह होने पर भी धन में वृद्धि होती है, लेकिन उत्तर दिशा उत्तम मानी गई है।

Source-Google

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

शास्त्रों के अनुसार क्यों नहीं लगाना चाहिए झाड़ू को पैर

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the lend of Sun, Send and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.