धनु राशि में वक्री हुए बृहस्पति देव, लोगों के जीवन में मचाएंगे उथल-पुथल

Samachar Jagat | Wednesday, 10 Apr 2019 04:33:53 PM
Jupiter Dev Curved in Sagittarius will stir up Upheaval in peoples lives

धर्म डेस्क। बृहस्पति को शुभ ग्रह माना जाता है और ये पुनर्वसु, विशाखा और पूर्वा भाद्रपद नक्षत्र का शासक ग्रह है। यदि ये ग्रह किसी राशि में उच्च स्थान पर हो तो व्यक्ति को प्रगति और समृद्धि प्राप्त होती है, वहीं इसके निम्न स्थान में होने पर जातक को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ज्योतिषिय गोचर के अनुसार, राहु-केतू को छोड़कर अन्य सभी ग्रह दो प्रकार से गति करते हैं, पहला मार्गी और दूसरा वक्री।

मां दुर्गा का आर्शीवाद प्राप्त करने के लिए नवरात्र की पूजा करते समय राशिअनुसार पहनें इस रंग के कपड़े 

मार्गी का मतलब होता है विपरीत दिशा में गति करना और वक्री का अर्थ होता है सीधी दिशा में गति करना। जब कोई ग्रह वक्री या मार्गी गति करता है तो इसका विशेष महत्व होता है। देव गुरु बृहस्पति अपनी ही राशि पर 13 दिनों के लिए वक्री हो रहे हैं, ये 10 अप्रैल 2019 से धनु राशि में वक्री हुए हैं और 22 अप्रैल तक इसी राशि में विध्यमान रहेंगे। 

जानिए! भगवान शिव को क्यों आया अपने परम भक्त रावण पर क्रोध, लात मारकर गिरा दिया कैलाश पर्वत के नीचे

धनु और मीन राशियों पर बृहस्पति का शासन होता है और यह कर्क राशि में उदित होता है। बृहस्पति का उच्च स्थान में होना विकास, दोषहीनता और लोगों के जीवन में विस्तार का संकेत है। बृहस्पति ग्रह धर्म, ज्ञान, दर्शन, घरेलू जीवन और संतान से संबंधित विषयों के संतुलन का प्रतिनिधित्व करता है। ऐसे में बृहस्पति के अपनी ही राशि में वक्री होने से इसका प्रभाव सभी जातकों पर पड़ेगा और उनके जीवन में कई प्रकार के बदलाव होंगे।

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है । )

कहीं आपकी तरक्की की राह में भी तो बाधाएं उत्पन्न नहीं कर रहीं राशि अनुसार आपके अंदर की ये कमियां

भूत-प्रेत का साया होने पर व्यक्ति को अपने हाथ में रखनी चाहिए ये चीज, आत्माएं नहीं पहुंचा सकती नुकसान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.