एक महीने से बंद शुभ कार्य ख्रर मास समाप्त होते ही हुए शुरू, अप्रैल माह में हैं विवाह के इतने शुभ मुहूर्त

Samachar Jagat | Monday, 15 Apr 2019 01:51:12 PM
khar mass are finished auspicious work Start

धर्म डेस्क। खरमास समाप्त होने से एक बार फिर शुभ कार्यों की शुरूआत हो गई है। आपको बता दें कि सूर्य प्रत्येक माह राशि परिवर्तन कर दूसरी राशि में विराजमान होता है। इस बार 15 मार्च को सूर्य ने कुंभ राशि को त्यागकर मीन राशि में प्रवेश किया और सूर्य 14 अप्रैल तक इसी राशि में विध्यमान रहा। 

अगर इस मंदिर में पति-पत्नी एक साथ कर लें माता के दर्शन तो वैवाहिक जीवन में परेशानियां हो जाती है शुरू

सूर्य के मीन राशि में रहने से एक माह तक ख्रर मास रहा और इसी वजह से शुभ कार्यों पर विराम लगा रहा। 15 अप्रैल यानि आज से सूर्य ने मीन राशि को त्यागकर मेष राशि में प्रवेश कर लिया है और खरमास समाप्त हो गया है। खरमास के समाप्त होते ही एक बार फिर शुभ कार्यों की शुरूआत हो गई है और विवाह कार्य भी प्रारंभ हो गए हैं। 

महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली ये महिला हवनकुंड से हुई उत्पन्न, जानिए जन्म से जुड़ी रोचक कथा के बारे में...

खरमास समाप्त होने के बाद 16 अप्रैल को विवाह का पहला शुभ मुहूर्त है और इसके बाद इसी माह के विवाह के 9 मुहूर्त और पड़ रहे हैं। विवाह के 10 मुहूर्त अप्रैल माह में होने के कारण अप्रैल माह में शादियों की धूम रहेगी। गौरतलब है कि मार्च माह में विवाह का आखिरी मुहूर्त 13 मार्च को था और इसके बाद से खरमास प्रारंभ होने की वजह से एक माह तक विवाह कार्य बंद रहे। 

अप्रैल माह में शादी विवाह की शुभ तिथि :-

16 अप्रैल (मंगलवार) 
17 अप्रैल (बुधवार) 
18 अप्रैल (गुरुवार)
19 अप्रैल (शुक्रवार) 
20 अप्रैल (शनिवार) 
22 अप्रैल (सोमवार)
23 अप्रैल (मंगलवार) 
24 अप्रैल (बुधवार) 
25 अप्रैल (गुरुवार)
26 अप्रैल (शुक्रवार)

(आपकी कुंडली के ग्रहों के आधार पर राशिफल और आपके जीवन में घटित हो रही घटनाओं में भिन्नता हो सकती है। पूर्ण जानकारी के लिए कृपया किसी पंड़ित या ज्योतिषी से संपर्क करें।)

सत्यवती ने इन तीन शर्तों को पूरा करने के बाद किया था ऋषि पाराशर के प्रेम को स्वीकार, जानिए क्या था इसका महाभारत से संबंध

जानिए! चारों युगों में पाप और पुण्य की मात्रा के अलावा और किन-किन चीजों में हुआ परिवर्तन



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.