ख्वाजा की नगरी अजमेर में हर्षोल्लास के साथ मनाई गई बकरीद

Samachar Jagat | Thursday, 23 Aug 2018 01:40:38 PM
Khwajas city Ajmer was celebrated with joyful celebration

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

अजमेर। राजस्थान में ख्वाजा की नगरी अजमेर में ईद-उल-जुहा (बकरीद) का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। ईद की मुख्य नमाज केसरगंज स्थित ईदगाह पर पढ़ी गई जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने नमाज अदा की और विशेष दुआ पढ़कर मुल्क की खुशहाली एवं भाईचारे की दुआ मांगी। बड़ी संख्या में मुसलमानों ने गले मिलकर एक दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी और परस्पर खुशियां बांटी और दरगाह परिसर स्थित संदली एवं शाहजहांनी मस्जिद, कलेक्ट्रेट मस्जिद, मस्जिद क्लॉक टावर एवं सूफी मस्जिद सोमलपुर पर भी अल्लाह की राह में कुर्बानी का त्योहार ईद की नमाज अदा की गई।

ईदगाह स्थित मुख्य नमाज के दौरान हजारों मुसलमानों ने नमाज अदा की। यहां दरगाह कमेटी ने नमाज के लिए विशेष इंतजाम कराए और वजू के लिए भी व्यवस्था की। बड़ी संख्या में खादिमों, दोनों अंजुमनों के पदाधिकारियों, दरगाह नाजिम ने नमाज अदा की तथा प्यार मोहब्बत, बलिदान, तपस्या के इस दिन पर देश में अमन चैन की कामना की। इस मौके पर जिला कलेक्टर आरती डोगरा एवं पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह ने व्यवस्थाओं की कमान संभाली। नमाज के बाद कांग्रेस, आम पार्टी तथा भाजपा की ओर से भी मुस्लिम बिरादरी को गले मिलकर बकरीद की बधाई दी गई। नमाज के बाद मुस्लिम परिवारों में कुर्बानी का दौर शुरू हुआ। 

कुर्बानी का प्रमुख आकर्षण हाजी फैय्याज उल्लाह के परिवार का शेरु नामक 120 किलो वजनी बकरा रहा जिसे पाल पोसकर परिवार के सदस्यों ने बड़ा किया और उसे सजाकर माला पहनाकर बाजार में उसकी सवारी निकाली गई तथा अल्लाह की राह में कुर्बानी देकर धार्मिक रस्म अदा की गई। सूफी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती के वंशज एवं वंशानुगत सज्जादानशीन दरगाह दीवान सैयद जैनुअल आबेदीन ने ईद के मुबारक मौके पर जारी अपने संदेश में कहा कि ईद-उल-जुहा त्याग, आत्म इच्छा एवं समर्पण और आज्ञाकारिता के प्रतीक स्वरुप मनाया जाता है। लोगों को इसे अपने जीवन में अपनाने की आवश्यकता है क्योंकि इस्लाम शांति, भाईचारा, मिलनसाहर से जीवन व्यतीत करने की शिक्षा देता है। -एजेंसी 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.