जानिए! 2022 में नहीं तो फिर कब होगा हरिद्वार में कुंभ मेले का आयोजन

Samachar Jagat | Friday, 11 Jan 2019 02:31:50 PM
Kumbh Mela is being held in Haridwar in 2021

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। प्रयागराज में 14 जनवरी से कुंभ मेले का आयोजन किया जा रहा है, देव - दानवों के बीच अमृत कलश को लेकर हुए युद्ध में पृथ्वी पर चार जगहों पर अमृत की बूंदे गिरीं। ये चार जगह थीं उज्जैन, प्रयागराज, नासिक और हरिद्वार, इन्हीं चार जगहों पर कुंभ मेला लगता है। एक जगह पर बारह वर्ष बाद कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है। साल 2019 में कुंभ मेला लगने के बाद ये माना जा रहा था कि अगला कुंभ का मेला 2022 में लगेगा लेकिन धार्मिक कारणों से इस बार इसमें एक वर्ष की कमी आ रही है जिसके कारण अगला कुंभ का मेला 2021 में हरिद्वार में आयोजित किया जाएगा।


14 जनवरी के बाद खुलेंगे इस राशि के जातकों की बंद किस्मत के दरवाजे, बन जाएंगे धनवान

ऐसे में एक स्थान पर कुंभ 11 वर्ष के पश्चात ही आयोजित हो जाएगा। आपको बता दें कि जब सूर्य मेष राशि में विध्यमान होता है और कुंभ राशि में बृहस्पति का आगमन होता है उसी समय हरिद्वार में कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है। 2022 में कुंभ राशि में बृहस्पति का प्रवेश नहीं हो रहा है।

अगर आप पर भी चल रही है शनि की महादशा तो घर में लगाएं शनि को प्रिय ये पेड़, बनी रहेगी सुख-समृद्धि

Learn! On what day will you get a shower from a Kumbh shahi snan

इसी कारण कुंभ मेले का आयोजन 2021 में करने का निर्णय लिया जा रहा है। खबरों के अनुसार, उज्जयिनि विद्वत् परिषद ने कुंभ का आयोजन 2021 में ही करने की निर्णय लिया है लेकिन इसके लिए अभी शंकराचार्यों, आचार्यों तथा हरिद्वार, काशी की विद्वत परिषद की मुहर लगनी बाकी है। इन सभी की सहमति मिलने के बाद ही 2021 में कुंभ मेले का आयोजन किया जाएगा।

आपको बता दें कि हालहि में कुंभ मेला प्रयागराज में आयोजित होने जा रहा है, एक जगह पर बारह वर्ष बाद आयोजित होने वाले कुंभ का देशी और विदेशी मेहमानों को बेसब्री से इंतजार होता है। इस बार कुंभ स्नान 14 जनवरी से प्रारंभ हो रहा है और इसका समापन 4 मार्च को होगा। 

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

कहीं आपकी तरक्की की राह में भी तो बाधाएं उत्पन्न नहीं कर रहीं राशि अनुसार आपके अंदर की ये कमियां

भूत-प्रेत का साया होने पर व्यक्ति को अपने हाथ में रखनी चाहिए ये चीज, आत्माएं नहीं पहुंचा सकती नुकसान

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!



Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.