जानिए! तीन विवाह करने के बाद भी हनुमान जी को क्यों कहा जाता है बाल ब्रह्मचारी?

Samachar Jagat | Thursday, 18 Apr 2019 04:38:55 PM
Learn  After three marriages why is Hanuman ji called Bal Brahmachari

धर्म डेस्क। हनुमान जी बल और बुद्धि के दाता हैं और हनुमान जयंती पर उनकी विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। हनुमान जी को बाल ब्रह्मचारी माना जाता है और इसी वजह से महिलाओं को उनकी पूजा करने से रोका जाता है। आपको बता दें​ कि कुछ पौराणिक ग्रंथों में हनुमान जी के विवाह का वर्णन किया गया है और माना जाता है कि हनुमान जी का विवाह हुआ था। शास्त्रों में कई जगहों पर ये वर्णन मिलता है कि हनुमान जी की तीन शादियां हुई थीं। आपको बता दें​ कि तेलंगाना के खम्‍मम जिले में हनुमान जी और उनकी पत्‍नी सुर्वचला का बहुत पुराना मंदिर है और यहां पर ज्‍येष्‍ठ शुक्ल दशमी को हनुमान जी के विवाह का जश्न मनाया जाता है। हनुमान जी की शादी कब हुई और उनकी पत्नियां कौन हैं, आइए आपको बताते हैं इसके बारे में....

महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली ये महिला हवनकुंड से हुई उत्पन्न, जानिए जन्म से जुड़ी रोचक कथा के बारे में..

लोकमान्यताओं के अनुसार हनुमान जी के तीन विवाह हुए थे। पाराशर संहिता के अनुसार सूर्यदेव से ज्ञान प्राप्त करने के लिए हनुमान जी ने पहला विवाह सूर्यपुत्री सुर्वचला से किया।

एक महीने से बंद शुभ कार्य ख्रर मास समाप्त होते ही हुए शुरू, अप्रैल माह में हैं विवाह के इतने शुभ मुहूर्त

पउम चरित के अनुसार जब रावण और वरूण देव का युद्ध हुआ तो वरूण देव की तरफ से हनुमान जी ने रावण से युद्ध किया और रावण के सभी पुत्रों को बंदी बना लिया। इसके बाद रावण ने अपनी दुहिता अनंगकुसुमा का विवाह हनुमान जी से कर दिया। इसके साथ ही वरूण देव हनुमान जी से प्रसन्न हुए और उन्होंने अपनी पुत्री सत्यवती का हाथ हनुमान जी के हाथों में सौंप दिया।

इस प्रकार हनुमान जी के तीन विवाह हुए, शास्त्रों के अनुसार भले ही परिस्थिति वश हनुमान जी को तीन विवाह करने पड़े लेकिन इसके बाद भी उन्होंने विवाह का सुख न भोगते हुए ब्रह्मचर्य का पालन किया और भगवान राम की सेवा में अपना जीवन व्यतीत कर दिया। इसी वजह से आज भी हनुमान जी को बालब्रह्मचारी मानकर उनकी पूजा की जाती है।

(आपकी कुंडली के ग्रहों के आधार पर राशिफल और आपके जीवन में घटित हो रही घटनाओं में भिन्नता हो सकती है। पूर्ण जानकारी के लिए कृपया किसी पंड़ित या ज्योतिषी से संपर्क करें।)

अगर इस मंदिर में पति-पत्नी एक साथ कर लें माता के दर्शन तो वैवाहिक जीवन में परेशानियां हो जाती है शुरू

जो भूखा शेर मां दुर्गा को अपना भोजन बनाने के लिए आया था उसे ही बना लिया देवी ने अपना वाहन, जानिए क्यूं



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.