जानिए! सफलता प्राप्त करने के लिए किस रत्न को धारण करना रहता है लाभदायक

Samachar Jagat | Tuesday, 23 Apr 2019 04:32:44 PM
Learn! Which gemstone is to be beneficial to achieve success

धर्म डेस्क। ज्योतिष शास्त्र में रत्नों को बहुत महत्व दिया गया है, अलग-अलग रत्नों का प्रभाव भी अलग होता है और इन्हें हाथ की अलग-अलग उंगलियों में धारण किया जाता है। अगर आपको रत्न के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है तो इसे धारण करने से पहले किसी ज्योतिषी से जानकारी ले लें और इसके बाद रत्न को धारण करें। जिससे आप सही रत्न को सही उंगली में धारण कर सकें। हम आपको यहां बता रहे हैं कि किस रत्न को कौनसी उंगली में धारण करने से लाभ होता है, आइए जानते हैं इसके बारे में .........

महाभारत के युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाली ये महिला हवनकुंड से हुई उत्पन्न, जानिए जन्म से जुड़ी रोचक कथा के बारे में..

नीलम रत्न को मध्यमा उंगली में धारण करना चाहिए और इसे पहनने के बाद किसी दूसरे रत्न को धारण नहीं करना चाहिए। 

पुखराज को तर्जनी उंगली में पहनना लाभकारी होता है, अगर आपने पुखराज पहना है तो आप इसके साथ माणिक पहन सकते हैं ये और भी ज्यादा शुभ फल प्रदान करता है।

अगर इस मंदिर में पति-पत्नी एक साथ कर लें माता के दर्शन तो वैवाहिक जीवन में परेशानियां हो जाती है शुरू
 
माणिक अनामिका उंगली में पहनना चाहिए, जो व्यक्ति माणिक धारण करता है उसे जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलती है। 

पन्ना रत्न को कनिष्का उंगली में धारण किया जाता है, जिन लोगों का अपना बिजनेस है उन्हें पन्ना धारण करने से लाभ होता है।  

हीरा तर्जनी उंगली में धारण किया जा सकता है। हीरा पहनने से शुक्र के अशुभ प्रभाव से बचा जा सकता है। 

मोती को कनिष्का उंगली में पहनना लाभकारी रहता है, जिन लोगों को ज्यादा गुस्सा आता है उन्हें मोती धारण करना चाहिए। 

लहसुनियां रत्न को तर्जनी उंगली में धारण करना चाहिए, वहीं इसे हीरे के साथ नहीं पहनना चाहिए। 

(आपकी कुंडली के ग्रहों के आधार पर राशिफल और आपके जीवन में घटित हो रही घटनाओं में भिन्नता हो सकती है। पूर्ण जानकारी के लिए कृपया किसी पंड़ित या ज्योतिषी से संपर्क करें।)

सत्यवती ने इन तीन शर्तों को पूरा करने के बाद किया था ऋषि पाराशर के प्रेम को स्वीकार, जानिए क्या था इसका महाभारत से संबंध

जानिए! चारों युगों में पाप और पुण्य की मात्रा के अलावा और किन-किन चीजों में हुआ परिवर्तन



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.