जानिए! क्यों गरूण देव की तस्वीर को घर में लगाना माना जाता है शुभ, क्या होते हैं इसके फायदे

Samachar Jagat | Thursday, 06 Jun 2019 08:53:32 AM
Learn Why is it auspicious to put a photograph of garun dev in the house what are its advantages

धर्म डेस्क। गरूड़ एक पक्षी है लेकिन इसकी गिनती देवताओं में होती है क्योंकि ये भगवान श्री हरी विष्णु को बहुत प्रिय हैं और इसी वजह से भगवान विष्णु ने इसे अपना वाहन बनाया है। गरूड़ को अपनी तीव्र उडान के लिए भी जाना जाता है। भगवान विष्णु का वाहन होने के कारण गरूड़ का धार्मिक महत्व तो है ही इसके साथ ही इसे चाइनीज वास्तुशास्त्र यानि फेंगशुई में भी बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। आइए जानते हैं इसके महत्व के बारे में ...................

Rawat Public School

ड्राइंग रूम पर पड़ता है मेहमानों की सकारात्मक और नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव, ऐसे रख सकते हैं इसे वास्तु दोष से मुक्त

जो लोग आसमान छूने की चाह रखते हैं यानि की कामयाब इंसान बनना चाहते हैं तो ऐसे लोगों को अपने घर में गरूड़ की मूर्ति या फोटो को रखने से बहुत लाभ होता है। फैंगशुई के अनुसार गरूड़ की फोटो को घर में रखने से व्यक्ति की सोच सकारात्मक होती है और वह अपने लक्ष्य तक पहुंचने में कामयाब होता है।
 
अगर किसी को प्रमोशन की चाह है तो उसे अपने बॉस को गरूड़ का स्टैच्यू उपहार में देना चाहिए। इससे बॉस खुश होता है और प्रमोशन मिलने के चांस बढ़ जाते हैं।

व्यक्ति के जीवन में उथल-पुथल मचाते हैं ये दो ग्रह, बनते हैं सुख-दुख का कारण

परीक्षा में अच्छे परिणाम के लिए पढ़ना तो आवश्यक है ही इसके साथ ही फैंगशुई के अनुसार, अगर विद्यार्थी गरूड़ की फोटो को अपने स्टडी रूम में रखें तो इससे उनका ध्यान एकाग्र होता है और परीक्षा में सफलता मिलती है।

( इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है । )

जो व्यक्ति करता है इन लोगों से मुकाबला, उसे करना पड़ता है हार का सामना

नकारात्मकता का प्रतीक होती हैं ये तस्वीरें, घर में रखने से व्यक्ति को करना पड़ता है अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.