इस अनाथ बालक को भगवान शिव और पार्वती ने बनाया अपना पुत्र

Samachar Jagat | Monday, 12 Feb 2018 05:29:29 PM
Lord Shiva and Parvati made this orphan boy his son

धर्म डेस्क। भगवान शिव के दो पुत्रों गणेश और कार्तिकेय के बारे में तो सभी जानते हैं क्या आप जानते हैं इनके अलावा भगवान शिव का एक और पुत्र था। शिव के तीसरे पुत्र का नाम सुकेश था। आइए आपको बताते हैं कैसे एक साधारण बालक सुकेश बना भगवान शिव का पुत्र.........

इस राक्षस की वजह से यहां पर मिलता है पितरों को मोक्ष!

पौराणिक कथाओं के अनुसार राक्षसों का प्रतिनिधित्व दो लोगों को सौंपा गया- हेति और प्रहेति, ये दोनों भाई थे। ये दोनों भी दैत्यों के प्रतिनिधि मधु और कैटभ के समान ही बलशाली और पराक्रमी थे। प्रहेति धर्मात्मा था तो हेति को राजपाट और राजनीति में ज्यादा रुचि थी।

आज भी अनसुलझे हैं तिरुपति बालाजी मंदिर के ये रहस्य

राक्षसराज हेति ने अपने साम्राज्य विस्तार हेतु काल की पुत्री भया से विवाह किया। भया से उसके विद्युत्केश नामक एक पुत्र का जन्म हुआ। विद्युत्केश का विवाह संध्या की पुत्री सालकटंकटा से हुआ। सालकटंकटा व्यभिचारिणी थी। इस कारण जब उसका पुत्र जन्मा तो उसे लावारिस छोड़ दिया गया।

शास्त्रों के अनुसार क्यों नहीं लगाना चाहिए झाड़ू को पैर

पुराणों के अनुसार भगवान शिव और मां पार्वती की उस अनाथ बालक पर नजर पड़ी और उन्होंने उसको सुरक्षा प्रदान की। इसका नाम उन्होंने सुकेश रखा। इस तरह से एक साधारण लावारिस बालक को भगवान शिव और माता पार्वती ने अपना पुत्र बना लिया।

Source-Google

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.