जानिए! किस पर रहती हैं माता लक्ष्मी मेहरबार और किससे हो जाती हैं रूष्ठ

Samachar Jagat | Friday, 13 Apr 2018 07:00:01 AM
Mata Lakshmi is very kind to whom And who gets angry
Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। बिना लक्ष्मी यानि धन के आज के समय में किसी भी व्यक्ति का जीवन यापन करना असंभव है लेकिन लक्ष्मी चंचल होती है और वो कभी भी एक जगह पर नहीं टिकती है। भगवान विष्णु की पत्नी माता लक्ष्मी धन, सम्पदा, शान्ति और समृद्धि की प्रतीक हैं। जिस व्यक्ति पर ये मेहरबान होती हैं वो व्यक्ति लक्ष्मीवान, श्रीमान के नाम से संबोधित होता है और जिससे ये रूष्ठ हो जाती हैं उसे सभी तरफ से धिक्कार और अपमान मिलता है। आइए जानते हैं किसके पास माता लक्ष्मी करती हैं निवास और किससे हो जाती हैं रूष्ठ............

जानिए! दूध से जुड़े कुछ शकुन-अपशकुन के बारे में .......

जो व्यक्ति प्रतिदिन माता लक्ष्मी की पूजा करता है और अपने धन को गरीब और असहायों के हितों के लिए व्यय करता है उससे माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और हमेशा उस पर अपनी कृपा की बरसात करती रहती हैं।

धनवान बनने के लिए व्यक्ति की कुंडली में होने चाहिए ये योग

ज्यादा से ज्यादा दान और परोपकार करने वाले व्यक्ति से भी माता लक्ष्मी प्रसन्न रहती हैं और ऐसे व्यक्ति के लिए वे अपने द्वार हमेशाखुले रखती हैं।

धन वृद्धि के लिए दीपक जलाते समय करें इन नियमों का पालन

वहीं इसके विपरीत जो व्यक्ति लक्ष्मी या धन के आने से अहंकार से भर जाता है, वह धन पाकर अनुचित कार्य करने लगता है और बुरे कामों में अपना धन व्यय करता है उससे माता लक्ष्मी रूष्ठ हो जाती हैं। ऐसे व्यक्ति से माता लक्ष्मी कुछ ही समय में दूरियां बना लेती हैं और उसे बाद में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 

Source-Google

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

जानिए कौन था सहस्त्रार्जुन और क्या था इसका रावण से संबंध


 

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.