मकर संक्रांति पर सूर्यदेव को काले तिल करें अर्पित, शनिदेव खोल देंगे धन के भंडार

Samachar Jagat | Saturday, 12 Jan 2019 09:59:22 AM
Offer kale til to the surya dev at Makar Sankanti

धर्म डेस्क। मकर संक्रांति पर तिल को बहुत महत्व दिया जाता है, इस दिन अगर तिल का दान किसी भी रूप में किया जाए तो इससे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होती है। दान के साथ ही इस दिन सूर्यदेव की पूजा में तिल को ​सम्मिलित किया जाता है। मकर संक्रांति पर सूर्यदेव की तिल से पूजा क्यों की जाती है। इसके पीछे श्रीमद्भागवत और देवी पुराण में एक कथा का उल्लेख किया गया है। आइए जानते हैं इस कथा के बारे में .............

14 जनवरी के बाद खुलेंगे इस राशि के जातकों की बंद किस्मत के दरवाजे, बन जाएंगे धनवान

पौराणिक कथा के अनुसार, जब अपने ही पुत्र शनिदेव और पत्नी छाया के कारण सूर्यदेव को कुष्ठ रोग हो गया तो उन्होंने अपने दूसरे पुत्र यम की सहायता से रोग से छुटकारा पाया और क्रोध में आकर शनि के घर यानि कुंभ राशि को जलाकर राख कर दिया। इसके बाद यमराज ने अपने पिता को बहुत समझाया और अपनी सोतेली माता और शनिदेव के कष्टों का निवारण करने को कहा।

यमराज के बहुत समझाने पर सूर्यदेव राजी हो गए और वे शनिदेव के घर में पहुंचे। जब सूर्यदेव शनि के घर में पहुंचे तो वहां पर सब कुछ जला हुआ था और काले तिलों के अलावा कुछ नहीं बचा था, इसी कारण शनिदेव ने अपने पिता सूर्यदेव की पूजा उन्हीं काले तिलों से की। शनि की पूजा से प्रसन्न होकर सूर्यदेव ने आशीर्वाद दिया कि जब वे शनि के दूसरे घर मकर राशि में आएंगे तब शनिदेव का घर पुन: धन-धान्य से भर जाएगा।

अगर आप पर भी चल रही है शनि की महादशा तो घर में लगाएं शनि को प्रिय ये पेड़, बनी रहेगी सुख-समृद्धि

काले तिलों के कारण शनि देव को खोया हुआ वैभव वापस मिला। इसी कारण मकर संक्रांति पर सूर्य व शनि की काले तिलों से पूजा की जाती है। ये माना जाता है कि इस दिन सूर्यदेव की तिल से पूजा करने से मान-सम्मान, धन और वैभव की प्राप्ति होती है। 

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

कहीं आपकी तरक्की की राह में भी तो बाधाएं उत्पन्न नहीं कर रहीं राशि अनुसार आपके अंदर की ये कमियां

भूत-प्रेत का साया होने पर व्यक्ति को अपने हाथ में रखनी चाहिए ये चीज, आत्माएं नहीं पहुंचा सकती नुकसान



 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...
ताज़ा खबर

Copyright @ 2019 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.