आज शिवलिंग पर चढ़ाएं ये छोटी सी चीज, नहीं होगी धन की कमी

Samachar Jagat | Monday, 11 Jun 2018 05:15:17 PM
Present this small item on Shivling, Will not be lacking in money

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures

धर्म डेस्क। ज्योतिष शास्त्र में गरीबी दूर करने के कई कारगर उपाय दिए गए हैं, इन उपायों को अपनाने से सभी प्रकार की ग्रह बाधाएं दूर होती हैं। यदि किसी वजह से धन प्राप्त करने में कोई समस्या आ रही हो तो इन उपायों से सभी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं। यदि आप भी किसी ग्रह बाधा से पीडि़त हैं तो यह उपाय अवश्य करें।

करें ये उपाय:-

सोमवार के दिन पूजन में अक्षत का उपयोग जरूर करें। पूजन के समय गुलाल, हल्दी, अबीर और कुंकुम अर्पित करने के बाद अक्षत चढ़ाऐं। ऐसा करने से भगवान शिव की कृपा आप पर बनी रहती है।

भोलेनाथ के क्रोध से बचना है तो करें इस स्त्रोत का जाप

सोमवार के दिन लाल कपड़े में 21 पीले चावल के दाने बांधने के बाद लाल कपड़े में बंधे चावल अपने पर्स में छिपाकर रख लें। ऐसा करने धन संबंधी मामलों में चल रही रुकावटें दूर हो जाती हैं। ध्यान रखें कि पर्स में किसी भी प्रकार की अधार्मिक वस्तु न रखें। शास्त्रों के अनुसार पूजन कर्म में चावल का काफी महत्व होता हैं। कुंकुम, गुलाल, अबीर और हल्दी की तरह चावल में कोई विशिष्ट सुगंध नहीं होती और न ही इसका विशेष रंग होता है।

शिवलिंग पर चावल चढ़ाने से शिवजी अतिप्रसन्न होते हैं। भगवान को चावल चढ़ाते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि चावल टूटे हुए न हों। ऐसा करने से जीवनभर धन-धान्य की कमी नहीं होती हैं। भक्तों को अखंडित चावल की तरह अखंडित धन, मान-सम्मान प्रदान करते हैं।

जानिए कौन था सहस्त्रार्जुन और क्या था इसका रावण से संबंध

चावल को पीला करने के लिए हल्दी का प्रयोग करें। इसके लिए हल्दी में थोड़ा पानी डालें। अब गीली हल्दी में चावल के 21 दाने डालें। इसके बाद अच्छे से चावल को हल्दी में रंग लें। चावल रंग जाए इसके बाद इन्हें सुखा लें। इस प्रकार तैयार हुए पीले चावल का उपयोग सोमवार को पूजन कार्य में करें।

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

Rajasthan Tourism App - Welcomes to the land of Sun, Sand and adventures


 

यहां क्लिक करें : हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें, समाचार जगत मोबाइल एप। हिन्दी चटपटी एवं रोचक खबरों से जुड़े और अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!

loading...

Copyright @ 2018 Samachar Jagat, Jaipur. All Right Reserved.